एसजेवीएन ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत बिजली महोत्सव’ का आयोजन किया

एसजेवीएन ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत बिजली महोत्सव’ का आयोजन किया

28.07.2022, सुन्नी, शिमला,

आजादी का अमृत महोत्सव’ के हिस्से के रूप में – भारत की आजादी के 75 साल का जश्न मनाने के लिए, एसजेवीएन लिमिटेड, स्थानीय प्रशासन, एचपीएसईबी के सहयोग से विद्युत मंत्रालय ने हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले के सुन्नी में ‘बिजली महोत्सव’ का आयोजन किया गया ।

बिजली महोत्सव का प्रयोजन राज्य और केंद्र सरकारों के बीच सहयोग का जश्न मनाने और बिजली क्षेत्र की प्रमुख उपलब्धियों को उजागर करने के लिए एक मंच के रूप में किया गया । जिसके कुछ प्रमुख बिंदु इस प्रकार रहे …..

• उत्पादन क्षमता 2014 में 2,48,554 मेगावाट से बढ़कर आज 4,00,000 मेगावाट हो गई है जो हमारी मांग से 1,85,000 मेगावाट अधिक है।
• भारत अब अपने पड़ोसी देशों को भी बिजली निर्यात कर रहा हैl
• 1,63,000 सर्किट किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइनें जोड़ी गईं, जो पूरे देश को एक आवृत्ति पर चलने वाले एक ग्रिड में जोड़ती हैं। लद्दाख से कन्याकुमारी तक और कच्छ से म्यांमार सीमा तक यह दुनिया में सबसे बड़े एकीकृत ग्रिड के रूप में उभरा हैl
• हम इस ग्रिड का उपयोग करके देश के एक कोने से दूसरे कोने तक 1,12,000 मेगावाट बिजली पहुंचा सकते हैंl
• आज हम अक्षय ऊर्जा स्रोतों से 1,63,000 मेगावाट बिजली पैदा करते हैं।
• हम दुनिया में अक्षय ऊर्जा क्षमता तेज गति से स्थापित कर रहे हैं।
• 2,01,722 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ हमने पिछले पांच वर्षों में वितरण बुनियादी ढांचे को मजबूत किया है – 2,921 नए सब-स्टेशन बनाकर, 3,926 सब-स्टेशनों का विस्तार, 6,04,465 सर्किट किलोमीटर एलटी लाइनें स्थापित करना, 2,68,838 11-केवी एचटी लाइनें स्थापित करना।, 1,22,123 सर्किट किलोमीटर कृषि फीडरों का फीडर पृथक्करण और स्थापना करनाl
• 2015 में ग्रामीण क्षेत्रों में आपूर्ति का औसत घंटे 12.5 घंटे था जो अब बढ़कर औसतन 22.5 घंटे हो गया हैl
• सरकार ने बिजली (उपभोक्ताओं के अधिकार) नियम, 2020 पेश किए हैं जिसके तहत-
i. नया कनेक्शन प्राप्त करने की अधिकतम समय सीमा अधिसूचित की गई हैl
ii. रूफ टॉप सोलर को अपनाकर अब उपभोक्ता बन सकते हैं उपभोक्ता l
iii. समय पर बिलिंग सुनिश्चित किया जाना l
iv. मीटर संबंधी शिकायतों को दूर करने के लिए समय-सीमा अधिसूचित की जाएगीl l
v. राज्य नियामक प्राधिकरण अन्य सेवाओं के लिए समयसीमा अधिसूचित की जाएगीl
vi. उपभोक्ता शिकायतों के समाधान के लिए डिस्कॉम 24X7 कॉल सेंटर स्थापित करेंगे l

• 2018 में 987 दिनों में 100% गांव विद्युतीकरण (18,374) हासिल किया l
• 18 महीनों में 100% घरेलू विद्युतीकरण (2.86 करोड़) हासिल किया। जोकि दुनिया के सबसे बड़े विद्युतीकरण अभियान के रूप में पहचाना गया।
• सौर पंपों को अपनाने के लिए शुरू की गई योजना जिसके तहत – केंद्र सरकार 30% सब्सिडी देगी और राज्य सरकार 30% सब्सिडी देगी। साथ ही 30 फीसदी लोन की सुविधा मिलेगी।

बिजली महोत्सव पूरे देश में उज्जवल भारत उज्जवल भविष्य – पावर @2047 की छत्रछाया में मनाया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक जनभागीदारी हो और बिजली क्षेत्र के विकास को बड़े पैमाने पर नागरिकों तक पहुंचाया जा सके।

इस अवसर पर कई गणमान्य व्यक्तियों ने भाग लिया, श्री सुरेश कश्यप, माननीय सांसद- मुख्य अतिथि रहे, वहीँ कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए श्री. संजय सिंह (सीजीएम/सुन्नी बांध के परियोजना प्रमुख एवं नोडल अधिकारी – एसजेवीएन), श्री, निशांत ठाकुर- एसडीएम- शिमला (ग्रामीण), एचपीएसईबी के नोडल अधिकारी- श्री. लोकेश ठाकुर- एसई-एचपीएसईबी और अन्य स्थानीय प्रशासन एवं गणमान्य व्यक्ति) जिसमें आसपास के गांवों और जिलों से भारी भीड़ देखी गई। गणमान्य व्यक्तियों ने बिजली के लाभों पर प्रकाश डाला और पिछले कुछ वर्षों में हुए बिजली क्षेत्र के अभूतपूर्व विकास को दिखाया। इस आयोजन में कई लाभार्थियों ने अपने अनुभव साझा किए।
आगंतुकों और मेहमानों के साथ जुड़ने के लिए, विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, नुक्कड़ नाटक और बिजली क्षेत्र पर लघु फिल्मों की स्क्रीनिंग का आयोजन किया गया। भारी भीड़ को देखते हुए यह सुनिश्चित किया गया कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे सभी कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन किया जाए।
इस अवसर के मुख्य अतिथि श्री. माननीय सांसद सुरेश कश्यप ने केंद्र और राज्य सरकार दोनों की प्रमुख उपलब्धि पर प्रकाश डाला, उन्होंने दिन-रात कड़ी मेहनत एवं लगन से काम करने वाले कर्मचारियों के अथक प्रयासों की सराहना की, उन्होंने अपने संबोधन में कहा की देश इसी तरह से विद्युत उत्पादन के क्षेत्र अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहेगा और देश को प्रगति के पथ पर अग्रिषित करता रहेगे जिससे सम्पूर्ण देश खुशहाल और सम्पन होगा और समूचा देश एक महा शक्ति के रूप में उभरेगाl उन्होंने सरकार द्वारा अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में किये गए कार्यो पर प्रकाश डाला और सराहना कीl

पूरा कार्यक्रम सफलतापूर्वक आयोजित किया गया; लोगों ने बड़े जोश और उत्साह के साथ भाग लिया, कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए एसजेवीएन, एचपीएसईबी, स्थानीय प्रशासन और अन्य प्रशासनिक अधिकारियो ने अपना पूरा सहयोग दिया और एकजुट होकर ‘बिजली महोत्सव’ को सफल बनाया l

Related post

Mohan Lal Baroli Takes Charge as Haryana BJP State President: A New Chapter for the Party

Mohan Lal Baroli Takes Charge as Haryana BJP State…

Mohan Lal Baroli Takes Charge as Haryana BJP State President: A New Chapter for the Party Mohan Lal Baroli, the newly…
हिमाचल प्रदेश विधानसभा में पति-पत्नी की ऐतिहासिक मौजूदगी: सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू और कमलेश ठाकुर

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में पति-पत्नी की ऐतिहासिक मौजूदगी: सीएम…

 हिमाचल प्रदेश विधानसभा में पति-पत्नी की ऐतिहासिक मौजूदगी: सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू और कमलेश ठाकुर हिमाचल प्रदेश के राजनीतिक इतिहास में…
Sukhvinder Singh Sukhu Emerges Victorious in Himachal Pradesh Bypolls, Strengthens Congress’s Position

Sukhvinder Singh Sukhu Emerges Victorious in Himachal Pradesh Bypolls,…

 Sukhvinder Singh Sukhu Emerges Victorious in Himachal Pradesh Bypolls, Strengthens Congress’s Position   Sukhvinder Singh Sukhu, the Chief Minister of Himachal…

Leave a Reply

Your email address will not be published.