पंजाब के सरकारी स्कूल व अस्पताल दोनों ही जर्जर स्थिति में, बच्चों व जनता के साथ मान कर रहे खिलवाड़: अश्विनी शर्मा

पंजाब के सरकारी स्कूल व अस्पताल दोनों ही जर्जर स्थिति में, बच्चों व जनता के साथ मान कर रहे खिलवाड़: अश्विनी शर्मा

अमृतसर ,( राहुल सोनी )

 

भाजपा पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कहा कि भगवंत मान सरकार द्वारा पंजाब के सरकारी स्कूलों में बेहतर शिक्षा देने का झूठा वादा धराशायी हो गया है, क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों में चलने वाले प्राथमिक स्कूलों में वहां के लोगों द्वारा ताला लगाया जा रहा है, क्योंकि वहां पर दो शिक्षकों द्वारा 200 से अधिक छात्रों को पढ़ाया जा रहा है। दुर्भाग्य से आम आदमी पार्टी प्रचार में इतनी आत्ममुग्ध है कि वह इस साल विधानसभा चुनावों के दौरान जनता से किए गए वादे ‘सरकारी स्कूलों में अच्छी शिक्षा’ देने का वादा करना भी भूल गई है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि जहां पंजाब के लोगों ने आप के पक्ष में वोट डालकर केजरीवाल और भगवंत मान पर भरोसा जताया, वहीं इन दोनों की जोड़ी पंजाब की जनता को भ्रष्टाचार तथा भयमुक्त शासन देने में बुरी तरह विफल रही है। पंजाब के अखबार प्रदेश के सरकारी स्कूलों की दयनीय स्थिति की खबरों से भरे पड़े हैं। अश्वनी शर्मा ने सवाल किया कि कोई कैसे हमारे बच्चों के भविष्य के साथ राजनीति कर सकता है? शिक्षकों को बाहर क्यों रखा गया?

अश्वनी शर्मा ने कहा कि मुक्तसर में एक अकेला शिक्षक 175 छात्रों को पढ़ा और भोजन करा रहा है। यह पूरी तरह से आप सरकार द्वारा की जा रही ईशनिंदा है। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले हमारे बच्चे कभी किसी से प्रतिस्पर्धा कैसे कर सकते हैं? जबकि बुनियादी कक्षाओं में पढ़ाने के लिए वहां शिक्षक ही नहीं है। यह एक बहुत ही विकट स्थिति है। शर्मा ने कहा कि वह मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान से अपील करते हैं कि स्कूलों को तुरंत शिक्षक उपलब्ध कराए जाएं। हमारे पंजाब की भावी पीढ़ी के साथ खिलवाड़ ना करें।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि स्वास्थ्य एक गंभीर मुद्दा है और मुख्यमंत्री मान ने कहा था कि इसमें सुधार होगा। हालांकि स्थिति इसके विपरीत है पंजाब में स्वास्थ्य ढांचा पूरी तरह चरमरा गया है और पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री वरिष्ठ डॉक्टरों का अपमान करते फिर रहे हैं। शर्मा ने कहा कि पंजाब की अधिकतर जनता गांवों में रहती है और ग्रामीण औषधालयों का हाल बेहाल है। राज्य में स्वास्थ्य और शिक्षा ढांचा बुरी तरह चरमराया हुआ है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि पंजाब सरकार दो सबसे अहम सुविधाएं स्कूली और सिविल अस्पताल जनता को मुहैया कराने में पूरी तरह नाकाम रही है। लोग महंगे निजी स्कूलों और निजी अस्पतालों का खर्च नहीं उठा सकते। भगवंत मान सरकार अपने दोनों वादों को पूरा करने में नाकाम रही है।

अश्वनी शर्मा ने कहा कि केजरीवाल की टीम की राजनीति में कोई नैतिक-नैतिकता नहीं है और वह चुनाव के दौरान अपने धोखे से मतदाताओं को लुभाने का काम करती है। लेकिन अब प्रदेश की जनता आम आदमी पार्टी के झूठ को अच्छी तरह पहचान चुकी है और आने वाले चुनाव में इसका जवाब देने का मन बना चुकी है।

Related post

राकेश झुनझुनवाला का रविवार सुबह 62 वर्ष की उम्र में निधन

राकेश झुनझुनवाला का रविवार सुबह 62 वर्ष की उम्र…

भारत के स्टाक मार्केट में निवेश करने वाले राकेश झुनझुनवाला का रविवार सुबह 62 वर्ष की उम्र में निधन हो गया.…
हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला की पर्यटन नगरी डलहौजी में हाथों में राष्ट्रध्वज व होठों पर देश भक्ति के गीतों व् नारों के साथ निकाली गयी भव्य तिरंगा यात्रा

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला की पर्यटन नगरी डलहौजी…

https://youtu.be/stj1736sL_o डलहौज़ी ”चम्बा”  रिपोर्ट   नरिंदर सिंह  ”बोब्बी” आजादी के 75वें अमृत महोत्सव को लेकर पूरे भारत में राष्ट्र प्रेम की अलख…
HP Cabinet decisions, jobs and better health services are on the agenda

HP Cabinet decisions, jobs and better health services are…

  SHIMLA 13th August, 2022 In a cabinet meeting today Himachal Pradesh government has taken many important decisions. In the meeting…

Leave a Reply

Your email address will not be published.