हमीरपुर में महिलाओं ने दिखाया ज्यादा उत्साह, 77 प्रतिशत से अधिक महिलाओं ने किया मतदान

इस बार जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में बढ़ी मतदान की प्रतिशतता

जिला निर्वाचन कार्यालय ने चलाया था व्यापक जागरुकता अभियान

 

हमीरपुर 14 नवंबर।

विधानसभा आम चुनाव-2022 में जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में पिछले विधानसभा आम चुनाव के मुकाबले अधिक मतदान हुआ है। कुल मिलाकर जिला में इस बार मतदान में लगभग 1.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

निर्वाचन विभाग के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2017 के विधानसभा आम चुनाव में जिला में कुल 70.21 प्रतिशत मतदान हुआ था, जबकि इस बार मतदान की प्रतिशतता 71.8 रही। इसमें पुरुषों के मुकाबले महिलाओं का ज्यादा योगदान रहा। जिला में 77 प्रतिशत से अधिक महिलाओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। जिला की पांचों विधानसभा क्षेत्रों में महिला मतदाताओं की संख्या 2,07,806 है, जिनमें से 1,60,055 महिलाओं ने 12 नवंबर को मतदान किया।

भोरंज के 101 मतदान केंद्रों पर इस बार क्षेत्र के 68.55 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। क्षेत्र के कुल 81,179 में से 55,650 मतदाताओं ने वोट डाले। इनमें से 30,766 महिलाएं और 24,884 पुरुष मतदाता शामिल हैं। वर्ष 2017 के आम चुनाव में भोरंज विधानसभा क्षेत्र में कुल 65.87 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस बार यहां मतदान में 2.68 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

सुजानपुर के 104 मतदान केंद्रों में इस बार 73.96 प्रतिशत मतदान हुआ। यहां 73,210 मतदाताओं में से 54,148 ने 12 नवंबर को मतदान किया। इनमें 29,901 महिलाएं और 24,247 पुरुष मतदाता शामिल हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में यहां 73.93 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस प्रकार सुजानपुर विधानसभा में मतदान की प्रतिशतता में .03 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

हमीरपुर विधानसभा क्षेत्र में भी पिछले विधानसभा आम चुनाव की तुलना में इस बार 2.05 प्रतिशत ज्यादा वोट डाले गए हैं। यहां 71.28 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया, जबकि वर्ष 2017 में यह आंकड़ा 69.23 प्रतिशत था। क्षेत्र के 94 मतदान केंद्रों पर कुल 75,435 मतदाताओं में से 53,769 मतदाता 12 नवंबर को वोट डालने के लिए पहुंचे। इनमें महिलाओं की संख्या 28,644 और पुरुष मतदाताओं की संख्या 25,124 रही।

बड़सर विधानसभा क्षेत्र में भी पिछले विधानसभा आम चुनाव की तुलना में इस बार मतदान की प्रतिशतता 1.02 अधिक रही। यहां इस बार 71.17 मतदाताओं ने वोट डाले, जबकि पिछली बार यहां 70.15 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। बड़सर विधानसभा क्षेत्र के 111 मतदान केंद्रों में कुल 85,521 मतदाता पंजीकृत हैं। इनमें से 60,865 ने 12 नवंबर को मतदान किया। इनमें महिलाओं की संख्या 33,450 है, जबकि पुरुष मतदाताओं की संख्या 27,415 रही।

जिला हमीरपुर के सबसे बड़े विधानसभा क्षेत्र नादौन के 121 मतदान केंद्रों पर 12 नवंबर को 73.91 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले यहां इस बार मतदान की प्रतिशतता करीब 2 प्रतिशत अधिक रही। पिछले विधानसभा चुनाव में यहां 71.92 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। इस बार नादौन विधानसभा क्षेत्र के कुल 93,425 मतदाताओं में से 69,055 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें 37,294 महिलाएं और 31,758 पुरुष मतदाता शामिल हैं।

उधर, जिला निर्वाचन अधिकारी देबश्वेता बनिक ने बताया कि जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान की प्रतिशतता बढ़ाने तथा आम मतदाताओं को जागरुक करने के लिए स्वीप कार्यक्रम के तहत व्यापक अभियान चलाया गया था। इस अभियान के तहत मतदाता जागरुकता रैलियों के अलावा कुकरी प्रतियोगिता और अन्य प्रतियोगिताओं के अलावा ‘फ्लेम ऑफ डेमोक्रेसी’ मशाल यात्रा, ओल्ड इज गोल्ड अंताक्षरी तथा कई अन्य गतिविधियां भी आयोजित की गईं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिला के सभी 531 मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को कई सुविधाएं उपलब्ध करवाई गईं। विशेषकर, छोटे बच्चों के साथ आने वाली महिलाओं एवं बच्चों की सुविधा के लिए प्रत्येक बूथ पर किड्स कार्नर्स स्थापित किए गए। इन बूथ किड्स कॉर्नर्स में छोटे बच्चों को दूध, पानी, खिलौने और अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई गईं। प्रत्येक बूथ पर मतदाताओं की सुविधा के लिए दो-दो वालंटियर्स भी तैनात किए गए। इसके अलावा पांचों विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो के बजाय पांच-पांच मतदान केंद्रों का संचालन पूरी तरह महिला अधिकारियों द्वारा ही किया गया।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि स्वीप कार्यक्रम के तहत आयोजित की गई विभिन्न गतिविधियों और मतदान केंद्रों पर उपलब्ध करवाई गई अच्छी सुविधाओं के परिणामस्वरूप जिला के पांचों विधानसभा क्षेत्रों विशेषकर भोरंज, हमीरपुर और नादौन में मतदान की प्रतिशतता में काफी अच्छी वृद्धि दर्ज की गई और मतदान प्रक्रिया में महिलाओं की भागीदारी बहुत ही सराहनीय रही।

Related post

हमारा हीरो, 25 वर्षीय ऋतिक धनटा ने बचाई दो की जान,

हमारा हीरो, 25 वर्षीय ऋतिक धनटा ने बचाई दो…

सोलन में टॉय ट्रेन की चपेट में आने से युवक के दोनों पैर घायल सोलन: सोलन में बीते कल एक चौंकाने…
9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी

9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव…

9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी शिमला, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष…
मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा

मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर…

मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा मुख्यमंत्री सुक्खू की भाषा टपोरी की तरह : बलबीर वर्मा शिमला,…

Leave a Reply

Your email address will not be published.