शक्तिपीठ प्रातः छह बजे से रात्रि आठ बजे तक खुलेंगेः डीसी डा निपुण जिंदल

शक्तिपीठ प्रातः छह बजे से रात्रि आठ बजे तक खुलेंगेः डीसी
         

सामाजिक दूरी तथा मास्क का उपयोग करना होगा जरूरी
         

भजन मंडली, जागरण तथा लंगर पर रहेगा प्रतिबंध


धर्मशाला, 30 जून। कांगड़ा जिला के प्रमुख शक्तिपीठ ज्वालामुखी, ब्रजेश्वरी धाम तथा चामुंडा मंदिर वीरवार से दर्शनों के लिए खुल जाएंगे। कोविड की दूसरी लहर आरंभ होने के कारण गत तीन माह से मंदिरों में श्रद्वालुओं की आवाजाही पर रोक लगा दी थी। अब कोविड के मामले कम होने के बाद के लोगों की गुजारिश पर सरकार ने प्रदेश के सभी मंदिरों को पहली जुलाई से खोलने के आदेश जारी किए हैं।

यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिर प्रातः छह बजे से लेकर रात आठ बजे तक खुले रहेंगे। इसमें भजन, लंगर, जागरण इत्यादि पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि श्रद्वालुओं को कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी। मंदिरों में सामाजिक दूरी की अनुपालना भी सुनिश्चित की जाएगी इसके साथ ही सभी श्रद्वालुओं को मास्क लगाना जरूरी होगा। उन्होंने कहा कि उपमंडल प्रशासन तथा मंदिर प्रशासन को भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं ताकि किसी भी स्तर पर कोविड प्रोटोकॉल की उल्लंघन नहीं हो।

उन्होंने कहा कि कोविड के संक्रमण से बचाव के लिए आम जनमानस का सहयोग भी जरूरी है इस के लिए मंदिर प्रशासन के साथ सुरक्षा कर्मी भी नियमित तौर पर श्रद्वालुओं का मार्गदर्शन करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि मंदिरों में दर्शनों के लिए भी सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए भी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि पुजारियों के लिए भी मास्क का उपयोग करने तथा सामाजिक दूरी की अनुपालना सुनिश्चित करना जरूरी होगा। उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि उपमंडलाधिकारी नियमित तौर पर मंदिरों का निरीक्षण करेंगे तथा कोविड प्रोटोकॉल की उल्लंघन होने पर उचित कार्रवाई भी अमल में लाएंगे।