हिमाचल में अब पर्यटकों को आने के लिए कोविड-19  आरटी-पीसीआर-negative रिपोर्ट लाना जरूरी

हिमाचल में अब पर्यटकों को आने के लिए कोविड-19  आरटी-पीसीआर-negative रिपोर्ट लाना जरूरी

शिमलाःहिमाचल प्रदेश में बिना कोरोना 2 डोज़ के आने वाले पर्यटकों व लोगो को कोविड-19  आरटी-पीसीआर-negative रिपोर्ट लाना जरूरी 9 अगस्त से हो सकती है ओर अधिक सख़्ती, मुख्यमंत्री।
 
कोविड-19 के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर से राज्य सरकार की चिंता बढ़ा दी है। हिमाचल में बढ़ते कोरोना के मामलों की गंभीरता को देखते हुए यह निर्णय लिया गया कि10 अगस्त तक राज्य सरकार स्थिति पर नजर रखेगी,ऐसे में यदि संक्रमण नहीं रुका तो आने वाले दिनों में हिमाचल प्रदेश में आरटी- पीसीआर रिपोर्ट व वैक्सीन सर्टीफिकेट दिखाने पर ही प्रवेश मिलेगा। इसके अलावा भीड़ को नियंत्रित करने के लिए फिर से प्रतिबंधों को लगाया जा सकता है। यानि पहले की तरह सार्वजनिक कार्यक्रमों में लोगों की संख्या को सीमित करने और भीड़भाड़ वाले इलाकों में भीड़ कम करने को लेकर नए सिरे से आदेश जारी किए जा सकते हैं।उधर,मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि लगातार बढ़ रहे कोरोना मामले चिंता बढ़ा रहे हैं जिसको देखते हुए एक बार फिर से पाबंदी बढ़ाने का निर्णय लिया है जिसमें दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य है.लेकिन यदि किसी व्यक्ति ने दो डोज़ कोरोना वैक्सीन की लगा दी है तो उसे आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य नहीं होगा उस व्यक्ति को सीमाओं पर वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाना होगा।उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों पर हमें सजग होने की जरुरत है जिसके चलते अब सख्त निर्णय भी लेने पड़ सकते हैं.
प्रदेश में 1414 एक्टिव केस रोजाना आ रहे 100 से ज्यादा मामले
उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि राज्य में पहले की तरह कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।  राज्य में इस समय कोरोना संक्रमण के 1414 एक्टिव केस हैं। इसमें मंडी जिले में सबसे अधिक 318 और सिरमौर जिले में सबसे कम 12 मामले हैं. इसी तरह चम्बा, कांगड़ा और शिमला जिले में कोरोना एक्टिव केस 200 से 300 का आंकड़ा पार कर गए हैं। राज्य में कोरोना के कारण मरने वालों का क्रम भी जारी है और अब तक इससे 3,505 लोग दम तोड़ चुके हैं।