राज्य भर में डेंगू से निपटने के लिए 39 टैस्ट लेबों में 44708 डेंगू के हुए टैस्ट - ओम प्रकाश सोनी

Breaking News

राज्य भर में डेंगू से निपटने के लिए 39 टैस्ट लेबों में 44708 डेंगू के हुए टैस्ट - ओम प्रकाश सोनी

17837 डेंगू केस पाये गये पॉजिटिव
 
राज्य के सरकारी अस्पतालों में 12 अफरेसिस मशीनें कर रही हैं काम
 
अमृतसर,( राहुल सोनी )
इस साल बेमौसमी बारिश होने के कारण कई स्थानों पर पानी के इकट्ठा होने के कारण डेंगू मच्छरों के प्रजनन में विस्तार हुआ है और पंजाब सरकार की तरफ से डेंगू से निपटने के लिए राज्य भर की 39 टेस्टिंग लेबों में 44708 टैस्ट किये जा चुके हैं और इनमें से 17837 डेंगू केस पॉजिटिव पाये गए हैं।
 
इस सम्बन्धी जानकारी देते ओम प्रकाश सोनी उप मुख्यमंत्री पंजाब जिनके पास स्वास्थ्य विभाग का प्रभार भी है, ने बताया कि राज्य भर में डेंगू केस आ रहे हैं और मुख्य तौर पर ज़िला शहीद भगत सिंह नगर में 2853, बठिंडा 2299, होशियारपुर 1590, अमृतसर 1609, पठानकोट 1574, श्री मुक्तसर साहिब 1388 और लुधियाना में 1295 में ज़्यादा डेंगू केस आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि डेंगू के मच्छर के ख़ात्मे के लिए 700 बी्रडिंग चैकर रखे गए हैं और जिनकी तरफ से अब तक शहरी और ग्रामीण इलाकों के घरों में 15 लाख से अधिक घर और 35 लाख कंटेनर चैक किये जा चुके हैं और जिनमें लगभग 30 हज़ार कंटेनरों में डेंगू के मच्छर का लारवा पाया गया, जिसको रिडकशन और लारवीसायड के इस्तेमाल से नष्ट किया गया है।
 
श्री सोनी ने और अधिक ज्यादा जानकारी देते हुये बताया कि राज्य के सरकारी अस्पतालों में 12 अफरेसिस मशीनें काम कर रही हैं, जिनके द्वारा सिंगल डोनर प्लेटलैट गंभीर मरीज़ों को मिल सकते हैं और इसके अलावा 22 जिलों में ब्लड कम्पोनैट सैपरेटर उपलब्ध हैं, जिनके द्वारा मरीजों को आ.डी.पी. मिल सकते हैं। उन्होंने बताया कि डेंगू और मलेरिया ऐपीडैमिक डिसीज़ एक्ट 1897 के अधीन नोटीफायड हैं, जिस अनुसार पंजाब राज्य के समूह प्राईवेट अस्पतालों की तरफ से डेंगू और मलेरिया केस स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को रिपोर्ट करने ज़रूरी हैं।   श्री सोनी ने बताया कि राज्य के सरकारी अस्पतालों में डेंगू का मुफ़्त इलाज उपलब्ध है और डेंगू के मरीजों के इलाज के लिए डेंगू वार्ड बनाऐ गए हैं, जिनमें मच्छरदानियाँ भी लगाई गईं हैं। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालों की 39 डेंगू टैसंटिंग लेबों में डेंगू की मुफ़्त टेस्टिंग की जाती है और इसके अलावा प्राईवेट लैबों को भी डेंगू के टैस्ट करने के रेट सरकार की तरफ से फिक्स किये गए हैं जिससे मरीजों से कोई अधिक पैसे न ले सके।
 
उप मुख्यमंत्री पंजाब ने बताया कि राज्य में डेंगू को फैलने से बचाने के लिए और लोगों को जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से हर रविवार डेंगू पर वार का नारा दिया गया है, जिसमें लोगों को हर रविवार अपने घरों में पड़े खाली बर्तन, कूलर, गमले, फ्रिजों की डिस्पोज़ल ट्रेओं को साफ़ करने के लिए उत्साहित किया जाता है। उन्होंने बताया कि कि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से लारवीसायड और इनसेक्टीसाईड के रेट कंट्रैक्ट हो चुका हैं और स्प्रे के लिए भरपूर मात्रा में दोनों चीजें उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि डेंगू मच्छर के ख़ात्मे के लिए शहरी इलाकों में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सुबह-समय लारवीसाईड की स्प्रे की जाती है और उसी दिन ही शाम को स्थानीय निकाय विभाग की तरफ से मच्छरों को मारने के लिए फोगिंग को भी यकीनी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग की तरफ से स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से ग्रामीण इलाकों में भी डेंगू के ख़ात्मे के लिए फोगिंग को यकीनी बनाया गया है।