हिमाचल में बढ़ते Covid-19 केस और तीसरी लहर की दस्तक

हिमाचल प्रदेश में Covid 19 के केस तेजी के साथ बड़ने लगे हैं और अब हिमाचल प्रदेश में सरकार ने नए नियमो के साथ प्रदेश में आने के आदेश भी जारी कर दिए हैं. 
 
पिछले कुछ दिनों से हिमाचल प्रदेश में टूरिस्ट की आभा जाही बड़ी है और यह एक बड़ा कारण हो सकती है Covid-19 में वृद्धि के लिए. 
 
अभी तक हिमाचल प्रदेश में  38,90,475 लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक लगाई जा चुकी है पर इसके बावजूद Covid-19 के केस भी बड़े है. 
 
तीसरी लहर की शुरूआत हिमाचल प्रदेश मे हो चुकी है. हर रोज बच्चों में संक्रमण के नए केस सामने आ रहे हैं और यह प्रदेश सरकार के लिए परेशानी बन सकते है. 
 
प्रदेश में 37 बच्चों के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इसमें मंडी जिले के 10, कांगड़ा आठ, शिमला के रोहड़ू में 10 बच्चे, बिलासपुर पांच, हमीरपुर तीन, ऊना और चंबा में दो-दो बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. कोरोना अब डेढ़ से लेकर 18 साल तक के बच्चों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है
 
 
अगर पिछले कुछ दिनो को देखा जाए तो प्रदेश में 700 से ज्यादा केस आएँ हैं इसमे सबसे ज्यादा मंडी जिले में एक्टिव केस हैं. शुक्रवार को प्रदेश में 256 कोरोना केस रिपोर्ट हुए हैं, जबकि दो मरीजों की मौत हुई है. 
 
अगर बाकी जिलों की स्थिति देखी जाए तो कोरोना संक्रमण के चंबा 68, मंडी 60, शिमला 52, कांगड़ा 43, हमीरपुर 24, बिलासपुर 18, लाहौल-स्पीति 10, ऊना आठ, जबकि कुल्लू व सोलन में पांच-पांच और किन्नौर में चार नए मामले आए हैं. कांगड़ा और मंडी में एक-एक संक्रमित महिला की मौत हुई है. बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश में 137 मरीज ठीक हुए हैं. प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा 207344 पहुंच गया है. इनमें से 202060 संक्रमित ठीक हो चुके हैं. सक्रिय मामले 1727 हो गए हैं. अब तक 3517 संक्रमितों की मौत हुई है. बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना की जांच के लिए 13940 सैंपल लिए गए.
 
सरकार को अब सचेत रहने की जरूरत है और ( Ground level) ग्राउंड लेबल पर काम करने की कोशिश करते रहने की जरूरत है. स्थिति को सामन्य रखने के लिए हेल्थ डिपार्टमेंट से लेकर सरकारी विभागों और अधिकारियों को काम करने की कोशिश करते रहना है.