सत्तामद में चूर बीजेपी को अब न्याय मांगने वालों से लगने लगा है खौफ

Breaking News

सत्तामद में चूर बीजेपी को अब न्याय मांगने वालों से लगने लगा है खौफ

बिलासपुर के लुहणू मैदान में न्याय मांगने आए पुलिस कर्मियों के अभिभावकों को सरकार ने बनाया गुनाहगार
सत्ता के दम पर प्रदेश के नागरिकों के हितों और हकों को लगातार कुचल रही है सरकार
 
हमीरपुर 7 दिसंबर
 
अब न्याय के लिए गुहार लगाना भी गुनाह साबित हो रहा है। अंग्रेजी हुकूमत की ज्यादतियों को पीछे छोड़ चुकी बीजेपी के राज में अब न्याय मांगना भी गुनाह हो गया है। लोकतंत्र की तमाम मर्यादाओं को कुचलते हुए जस्टिस फॉर एचपी पुलिस के लिए गुहार लगाने वाले पुलिस कर्मियों के परिजनों को अब सरकार ने गुनाहगार घोषित किया है। यह बात राज्य कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं विधायक राजेंद्र राणा ने यहां जारी प्रेस बयान में कही है। उन्होंने कहा कि ताज्जुब यह है कि अपने नौजवान बच्चों के लिए न्याय मांगने आए पुलिस कर्मियों के माता-पिता अपने नौजवान बच्चों के हितों और हकों के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के समक्ष पेश हुए, उन अभिभावकों को बीजेपी ने अब गुनाहगार घोषित किया है। जिसे देखकर लग रहा है कि बीजेपी के राज में अब न्याय मांगना भी गुनाह हो गया है। राणा ने तंज कसते हुए कहा कि जिस राष्ट्रीय अध्यक्ष के गृह क्षेत्र की जनता ने उन्हें पार्टी के सर्वोच्च पद पर पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास किए हैं। उसी गृह क्षेत्र व उसी प्रदेश की जनता से अब नड्डा खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल बेहद शालीन व शांतिप्रिय लोगों की धरती है। लेकिन बीजेपी के नेताओं को अब यहां की जनता आंतकवादी दिखने लगी है। राणा ने कहा कि सुरक्षा के नाम पर दर्जनों लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। लेकिन जब बीजेपी के नेता वोट मांगने के लिए घर-घर जाते हैं तो तब उन्हें इन्हीं लोगों से भय नहीं लगता है। लेकिन जैसे ही बीजेपी के नेता सत्ता के घोड़े की रकाब पर अपना पैर रखते हैं वैसे ही उन्हें प्रदेश की जनता से खौफ लगने लगता है। राणा ने कहा कि बीजेपी प्रदेश की जनता को बताए कि वह आखिर न्याय मांगने सरकार के पास नहीं जाएं तो कहां जाएं। क्योंकि पिछले 4 सालों से अनुबंध, डाईट मनी, पे-बेंड पर बीजेपी सरकार पुलिस कर्मियों की एक नहीं सुन रही है और अब इनके अभिभावक जब गहरे तनाव व अवसाद में सरकार द्वारा न सुने जाने पर नड्डा के समक्ष पेश हुए तो उन्हें बीजेपी ने गुनाहगार घोषित कर दिया। सरकार के इसी व्यवहार की सजा प्रदेश की जनता बीजेपी को देगी और जरूर देगी। राणा ने कहा कि लोकतंत्र में तमाम नागरिकों का हक-हकूक मांगने का अधिकार संविधान के अनुसार सुरक्षित है, लेकिन सत्तामद में चूर बीजेपी सरकार अब नागरिकों के हितों और हकों को कुचलती हुई अपनी मनमानी कर रही है। बिलासपुर के लुहणू गेट पर पुलिस कर्मियों के अभिभावकों के साथ सरकार ने जो सलूक किया है उस सलूक को प्रदेश की जनता कतई सहन नहीं करेगी। सरकार द्वारा पुलिस कर्मियों पर किए जा रहे अन्याय को लेकर मैं और कांग्रेस पार्टी लगातार आवाज उठाते आए हैं। लेकिन सरकार ने न जनता की सुनी न विपक्ष की सुनी।