हमीरपुर समाचार : सुशासन में हमीरपुर जिला को मिला पहला स्थान 

Breaking News

हमीरपुर समाचार : सुशासन में हमीरपुर जिला को मिला पहला स्थान 

 

 

 

 

 

सुशासन में हमीरपुर जिला को मिला पहला स्थान 

उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने शिमला में मुख्यमंत्री से प्राप्त की 50 लाख रुपये की पुरस्कार राशि

हमीरपुर 07 दिसंबर। विभिन्न मानकों में सराहनीय कार्य करने के लिए जिला हमीरपुर को डिस्ट्रिक गुड गवर्नेंस इंडेक्स-2020 यानि जिला सुशासन सूचकांक प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने मंगलवार को प्रदेश सचिवालय शिमला में आयोजित एक समारोह के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से यह पुरस्कार प्राप्त किया। प्रथम पुरस्कार के रूप में जिला को 50 लाख रुपये की राशि मिली है।
पिछले वर्ष हमीरपुर को तृतीय पुरस्कार मिला था, लेकिन इस बार प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित 19 प्रमुख क्षेत्रों, 7 थीम और कुल 75 मानकों एवं संकेतकों में शानदार प्रदर्शन करते हुए जिला ने प्रथम स्थान हासिल किया है।
उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने कहा कि प्रदेश सरकार के मार्गदर्शन और सभी विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों तथा जिलावासियों के सक्रिय सहयोग एवं समर्पण से ही हमीरपुर जिला ने यह उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने कहा कि एक बेहतरीन टीम के रूप में कार्य करते हुए सभी अधिकारी-कर्मचारी हमीरपुर जिला को नई ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं।

फोटो कैप्शन : प्रदेश सचिवालय शिमला में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री जयराम  ठाकुर के कर-कमलों से प्रथम पुरस्कार प्राप्त करतीं उपायुक्त हमीरपुर देबश्वेता बनिक।

पौंग झील क्षेत्र के होम स्टे संचालकों को सिखाई कुकिंग-हाउसिंग कीपिंग


इंडो जर्मन प्रोजेक्ट और वन्य प्राणी विभाग ने आईएचएम में करवाया कोर्स
जम्मू-कश्मीर की वुलर झील के पर्यटन व्यवसायियों ने भी लिया प्रशिक्षण

हमीरपुर 07 दिसंबर। पौंग झील के आस-पास होम स्टे एवं गेस्ट हाउस चलाने वाले युवाओं और अन्य पर्यटन व्यवसायियों को कुकिंग, हाउस कीपिंग और अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए होटल प्रबंधन संस्थान हमीरपुर में छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया।
  आरके मेहरा इंडो जर्मन प्रोजेक्ट और वन्य जीव प्राणी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किए गए इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान होम स्टे एवं गेस्ट हाउस संचालकों को कुकिंग, हाउस कीपिंग और होटल व्यवसाय से जुड़ी कई अन्य गतिविधियों का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इसका मुख्य उद्देश्य पौंग झील के आस-पास पर्यटन को बढ़ावा देना तथा स्थानीय युवाओं को स्वरोजगार उपलब्ध करवाना था।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में पौंग झील क्षेत्र के सूबेदार बलवीर सिंह, बरडू राम, रविंद्र कुमार, मुनीष कुमार, केहर सिंह, जरनैल सिंह, रवि, रोहित, सुमीत, विशाल, पुष्पिंद्र और शुभम के अलावा जम्मू-कश्मीर की वुलर झील के पर्यटन व्यवसायियों परवेज आलम, शकील मुहम्मद रफीक, फिरदौस अहमद और समीर अहमद ने भी भाग लिया।
कार्यक्रम के समापन अवसर पर प्रतिभागियों को प्रमाण पत्रों के साथ-साथ टूल किट और कुकिंग किताब भी प्रदान की गई। इस मौके पर एडीएम एवं होटल प्रबंधन संस्थान के कार्यकारी प्रधानाचार्य जितेंद्र सांजटा, वन्य प्राणी विभाग के अधिकारी रोहन रहाणे, होटल प्रबंधन संस्थान के विभागाध्यक्ष पुनीत बंटा, इंडो जर्मन प्रोजेक्ट के समन्वयक विवेक शर्मा, प्रोफेसर शशांक शर्मा, गुंजन उमाकांत, राकेश पटियाल, रोमी शर्मा, पंकज कुमार, नरेश कुमार और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर एसपी, एडीएम और अन्य अधिकारियों ने किया अंशदान
1971 के युद्ध की जीत के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य पर साइकल रैली को किया रवाना


हमीरपुर 07 दिसंबर। सशस्त्र सेना झंडा दिवस के उपलक्ष्य पर मंगलवार को जिला सैनिक कल्याण कार्यालय के उपनिदेशक स्क्वाड्रन लीडर मनोज राणा ने एसपी डॉ. आकृति शर्मा, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी जितेंद्र सांजटा और जिला मुख्यालय के अन्य अधिकारियों तथा कर्मचारियों को सशस्त्र सेनाओं का झंडा लगाया। झंडा लगाने के साथ ही इन अधिकारियों और कर्मचारियों से वीर सैनिकों तथा उनके परिजनों के कल्याण के लिए अंशदान भी एकत्रित किया गया।
   उपनिदेशक ने बताया कि सशस्त्र सेना झंडा दिवस थल सेना, वायु सेना और नौ सेना के उन वीर सैनिकों को समर्पित है जो मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हुए या विकलांग हो गए। उन्होंने बताया कि वीर सैनिकों तथा उनके आश्रितों के कल्याण के लिए ही हर वर्ष सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को झंडा भेंट करके उनसे धनराशि एकत्रित की जाती है। यह धनराशि शहीद सैनिकों के परिजनों और विकलांग सैनिकों की सहायता के लिए खर्च की जाती है।  
  इस अवसर पर एसपी ने 1971 के युद्ध की जीत के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य पर हमीरपुर पहुंची साइकल रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना भी किया।

आईटीआई रैल में निशुल्क कौशल विकास कोर्सों के लिए आवेदन 20 तक

हमीरपुर 07 दिसंबर। हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम की ओर से औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान रैल में कौशल विकास से संबंधित अल्प अवधि के कोर्स निशुल्क करवाए जाएंगे। कौशल विकास निगम की जिला समन्वयक मीनाक्षी ठाकुर ने बताया कि इन कोर्सों के लिए 20 दिसंबर तक आवेदन किया जा सकता है।
 उन्होंने बताया कि औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान रैल में सिलाई-बुनाई, ऑटोमोटिव सर्विस टैक्निशियन, ऑटोमोटिव सर्विस टैक्निशियन लेवल-3, इलेक्ट्रिशियन, लेथ ऑपरेटर, हैंड सोलडरिंग टैक्निशियन, वैल्डिंग, प्लंबर, सीएनसी ऑपरेटर एवं मशीनिंग टैक्निशियन के अल्प अवधि के कोर्स निशुल्क करवाए जाएंगे। जिला समन्वयक ने इच्छुक युवाओं से इन कोर्सों का लाभ उठाने की अपील की है। अधिक जानकारी के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान रैल के प्रधानाचार्य रणवीर सिंह परमार से  संपर्क किया जा सकता है।



Categories