हमीरपुर समाचार : हिमकेयर ने दिया सहारा

Breaking News

हमीरपुर समाचार : हिमकेयर ने दिया सहारा

 

 

 

 

किडनी की बीमारी से ग्रस्त रोशनी देवी को हिमकेयर ने दिया सहारा

हिमाचल प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना से हो रहा है मुफ्त इलाज

हमीरपुर 08 दिसंबर। एक तो गरीबी और तिस पर किडनी की बीमारी का महंगा इलाज, ऐसे में कोई वृद्ध महिला करे भी तो क्या करे? आखिर वह अपना इलाज कैसे और कहां करवाए? ऐसे हालात के शिकार कई लोग अक्सर पैसे के अभाव में इलाज नहीं करवा पाते थे और कई बार तो अकाल मृत्यु का शिकार हो जाते थे। लेकिन, हिमाचल प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना ऐसे लोगों के लिए बहुत बड़ी उम्मीद लेकर आई है।

इसका साक्षात उदाहरण बीते दिनों डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कालेज अस्पताल हमीरपुर के महिला वार्ड में देखने को मिला। महिला वार्ड में दाखिल भोरंज उपमंडल के गांव छतरकलां की 80 वर्षीय रोशनी देवी को उम्र के इस पड़ाव पर किडनी की समस्या ने घेरा तो उसे लगा था कि पैसे के अभाव में उसका इलाज ही नहीं हो पाएगा।

रोशनी देवी और दिल्ली में ड्राईवर के रूप में कार्य कर चुका उसका वृद्ध पति अपने बेटे पर ही आश्रित हैं। दिल्ली में ही ड्राईवरी करके अपना परिवार चलाने वाले बेटे के लिए भी रोशनी देवी का इलाज करवाना इतना आसान नहीं था।

ऐसे गंभीर हालात में अस्पताल में दाखिल रोशनी देवी को हिमाचल प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना में ही एक उम्मीद की किरण नजर आई। इस योजना के माध्यम से वह किडनी की गंभीर बीमारी का महंगा इलाज करवा पा रही हैं। हिमकेयर के कार्ड से उसका बिलकुल मुफ्त इलाज हो रहा है। इस सुविधा के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार का बार-बार आभार व्यक्त कर रही रोशनी देवी का कहना है कि उनकी तरह गंभीर बीमारियों के शिकार लोगों एवं उनके परिजनों के लिए हिमकेयर योजना एक बहुत बड़ा सहारा साबित हो रही है।


उधर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके अग्रिहोत्री ने बताया कि केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना से छूटे लोगों को भी मुफ्त इलाज की सुविधा प्रदान करने के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार ने हिमकेयर योजना आरंभ की है। इस योजना का लाभ एक परिवार के 5 सदस्य उठा सकते हैं। गरीब, निम्र मध्यम और मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए के लिए हिमकेयर योजना वरदान साबित हो रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जिला हमीरपुर में अभी तक 66,133 लोगों के हिमकेयर कार्ड बनाए गए हैं। इनमें से 21,520 लोग इस योजना के तहत अपना मुफ्त इलाज करवा चुके हैं।