किसके इशारे पर लटका है सुजानपुर की सड़कों का काम : राजेंद्र राणा

किसके इशारे पर लटका है सुजानपुर की सड़कों का काम : राजेंद्र राणा

निर्माण समय अवधि पूरी होने के बावजूद क्यों नहीं पूरा हो पा रहा है काम
 
जनता को परेशान करने का भुगतना होगा खामियाजा
 
हमीरपुर 10 अक्तूबर
 
चुनावी व्यस्तताओं के बीच सुजानपुर के लिए हमेशा फिक्रमंद रहने वाले विधायक राजेंद्र राणा ने क्षेत्र में खराब पड़ी सड़कों को लेकर मोर्चा खोला है। उन्होंने कहा कि क्या कहीं ऐसा तो नहीं है कि किसी के इशारे पर सुजानपुर की जनता को जानबूझ कर परेशान करने के लिए सड़कों के निर्माण कार्य को निरंतर लटकाया जा रहा है या फिर घटिया निर्माण सामग्री लगाकर स्थानीय जनता को परेशान करने का मंसूबा बनाया गया है। फतेहपुर उपचुनाव प्रचार के लिए रवाना होने से पहले राजेंद्र राणा ने रविवार को क्षेत्र की हर छोटी-बड़ी सड़कों का जायजा लेने के बाद कहा कि क्षेत्र की बद से बदहाल हो चुकी सड़कें जहां स्थानीय जनता के लिए खतरा बनी हुई हैं। वहीं इन सड़कों पर मजबूरी में सफर करने वाले मुसाफिर व विशेषकर दोपहिया वाहन चलाने वाले युवक कई बार हाथ-पांव तुडवा चुके हैं। स्थानीय जनता जान जोखिम में डालकर इन सड़कों पर सफर करने के लिए मजबूर है लेकिन सत्ता में बैठी हुई बीजेपी व उसके नेताओं को सुजानपुर की बदहाल सड़कें नजर नहीं आ रही हैं। राणा ने कहा कि 6 करोड़ की लागत से थाना-पटलांदर-रियाह सड़क की निर्माण समय अवधि महीनों पहले पूरी हो चुकी है लेकिन इस सड़क की अपग्रेडेशन का निर्माण कार्य लगातार लटकाया जा रहा है। जिस पर सरकार व विभाग दोनों ही खामोश हैं। सड़क की निर्माण समय अवधि पूरी होने के महीनों बाद भी अभी तक इस सड़क का 80 फीसदी काम लटका हुआ है। जबकि चलोखर-री-भलाणा सड़क की 7 करोड़ की ज्यादा लागत से अपग्रेडेशन की जा रही है। इस सड़क का 15 फीसदी काम भी ठीक से पूरा नहीं हुआ है। जबकि इसकी निर्माण समय अवधि भी महीनों पहले पूरी हो चुकी है। ऐसे ही री-घड़थोली वाया झलेड़-बल्याणा सड़क बनने के बाद 6 महीने तक भी नहीं चली है। यह सड़क पूरी तरह टूट चुकी है। राणा ने सवाल खड़ा किया है कि क्या कारण है कि 2 करोड़ से ज्यादा की लागत से बनी सड़क का लाभ जनता को 6 महीने भी नहीं मिला। उन्होंने टिप्पणी की है कि क्या निर्माण गुणवत्ता से समझौता किया गया है या सरकारी बजट से किसी के बारे-न्यारे करवाने के कारण सड़क निर्माण में घटिया सामग्री लगाई गई है। राणा ने तंज कसते हुए कहा कि नेता छोटा हो या बड़ा लेकिन इतना याद रहे कि जनता को परेशान करने का नतीजा जरूर भुगतना होगा। उन्होंने विभाग को चेतावनी देते हुए कहा है कि सुजानपुर की सड़कों को अगर युद्धस्तर पर ठीक नहीं किया गया तो इसके नतीजे भुगतने के लिए विभाग भी तैयार रहे। उन्होंने कहा कि जनहित में कोई भी दबाव या समझौता कतई भी बर्दाश्त नहीं होगा।