किन्नौर हादसा, काफी लोग अभी भी मलबे में फंसे, सेना और NDRF काम में जुटी

किन्नौर हादसा, काफी लोग अभी भी मलबे में फंसे, सेना और NDRF काम में जुटी

किन्नौर की घटना से हिमाचल प्रदेश के लोग आहत हैं. NDRF और सेना की टीम लोगों को बचाने में लगी है. घटना के स्थान से अभी तक एक आदमी का शव बरामद हुआ है. 
 
अब तक की जानकारी के अनुसार किन्नौर में हुए हादसे में एक व्यक्ति के मौत की पुष्टि हुई है, जबकि 9 लोगों के घायल होने की खबर है. यह घटना लगभग 12:45 बजे की है.ज्यूरी रोड पर निगोसारी और चौरा के बीच में अचानक एक बड़ा पहाड़ दरक गया था और कई गाड़ियां इसकी चपेट में आ गईं थीं 
 
हादसे में एचआरटीसी बस के चपेट में आने के कारण 40 से ज्यादा लोगों के मलबे में फंसने की आशंका है. बताया जा रहा है कि चट्टानें गिरने से एचआरटीसी बस मलबे में दब गई है.
 
यह बस मूरंग-हरिद्वार रूट पर थी और पहाड़ी के दरकने के कारण इसकी चपेट में आ गई. 
वहीं, चट्टानें गिरने से कई और वाहन भी मलबे में दब गए.
हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर रवाना हो गई और इसके साथ ही एनडीआरएफ और सेना की टीम भी मौके पर पहुंच गई. 
घायलों और मलबे में फंसे लोगों को बचाया जा रहा है. 
 
 
इस बड़े हादसे के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिमाचल सीएम जयराम ठाकुर बात की और घटना की जानकारी ली और हर संभव मदद का भरोसा दिया. 
 
बस में 35 से 40 लोग सवार थे. किन्नौर के भावानगर के पास यह घटना हुई है.
वहीं, मलबे में करीब 50 लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है,