अमृतसर में बना उत्तर भारत का सुन्दरतम रेलवे स्टेशन

Breaking News

अमृतसर में बना उत्तर भारत का सुन्दरतम रेलवे स्टेशन

मोदी के सहयोग व मलिक के प्रयासों से अमृतसर रेलवे स्टेशन पर हुआ 500 करोड़ का शानदार विकास।
 
  
अमृतसर, (  राहुल सोनी )
राज्यसभा सांसद व् पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्वेत मलिक की अध्यक्षता में अमृतसर रेलवे स्टेशन पर एक उच्च स्तरीय बैठक वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हुई । जिसमे अमृतसर रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाने के लिए चल रहे विकास कार्यों पर चर्चा हुई।  बैठक में डीआरएम डा. सीमा शर्मा, सीनियर डीसीएम चेतन तनेजा, सीनियर डिविजनल इंजीनियर अभिनव गर्ग, स्टेशन डायरेक्टर अशोक सलारिया, असिस्टेंट डिविजनल इंजीनियर राजीव भसीन , डा. हरविंदर सिंह संधु व अन्य सीनियर अधिकारी उपस्थित थे।
 
मलिक ने बताया जब 2016 में वह सांसद बने तो अमृतसर रेलवे स्टेशन उजड़ा हुआ रेलवे स्टेशन था । जहां साफ़ पानी की कोई व्यवस्था नहीं थी । टॉयलेट खराब थे । वह एस्क्लेटर्स हमेशा बंद रहते थे। यहां प्लेटफॉर्म भी बुरी तरह से टूटे हुए थे जहां लोग अक्सर गिरते रहते थे। मलिक ने बताया की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु, पियूष गोयल व् अब अश्वनी वैष्णव के सहयोग से अमृतसर उत्तर भारत का सबसे खूबसूरत रेलवे स्टेशन बन कर तैयार करवाया है। इस रेलवे स्टेशन पर लगभग  500 करोड़ का विकास हुआ | अब केंद्र सरकार द्वारा पी पी पी मॉडल के तहत स्टेशन के बाहरी इलाके में  300 करोड़ का विकास होगा। इसी के साथ छेहरटा रेलवे स्टेशन के लिए भी 60 करोड़ रूपये से विकास हुआ व् अन्दरून शहर को सिविल लाइन से जोड़ने के लिए भंडारी पुल पर रेल पुल बनवाया है  l
 
श्वेत मलिक ने कहा कि आजादी के 70 वर्षों के बाद कांग्रिस राज में अमृतसर रेलवे स्टेशन पर सिर्फ पाँच प्लेटफार्म थे, इसी कारण जहाँ नई गाड़िया अमृतसर को नही मिल पा रही थी और मानांवाला पर रेल गाड़ियों को प्लेटफार्म खाली होने के इंतज़ार में शताब्दी जैसी महत्वपूर्व गाड़ियों को कई घण्टों तक इंतजार करना परता था। मलिक ने कहा कि 90 फीसदी जनता रेलवे से सफर करती है, और आम जनता की सुविधा के लिए रेलवे स्टेशन का विकसित होना बहुत जरूरी है। इन्ही सुविधाओं को मद्देनजर रखते हुए अमृतसर मे दो नये प्लेटफार्म बनाए गए।  इन प्लेटफार्म के बनने से जहाँ यात्रियों को मानावाला स्टेशन पर घंटो इंतजार नहीं करना पड़ता वहीं अमृतसर को कई नई रेल गाड़िया भी मिली।
 
मलिक ने कहाकि अमृतसर रेलवे स्टेशन को 6 मॉडल रेलवे स्टेशनों में शामिल करवाकर करोड़ों रूपये से इसे वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाया जा रहा है और उन्होंने कहा कि जिस तरह अमृतसर के श्री गुरू रामदास अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया गया है उसी तरह अमृतसर के रेलवे स्टेशन को हेरिटेज लुक देते हुए हाईटेक सुविधाएं मुहैया करवाते हुए सर्व सुविधा सम्पन्न किया जा रहा है। यहां पीने के लिए साफ़ पानी, 5 लिफ्ट व् 2 एस्क्लेटर्स, ग्रेनाइट से लैस खूबसूरत प्लेटफॉर्म, 250 कुर्सियों वाला वातानुकूलित वेटिंग व रिटायरिंग रूम, आतंकवादियों से सुरक्षा के लिए स्कैनर्स, 34 सी सी टी वी कैमरे, ऑटोमैटिक बूम बैरियर आदि  लगवाए है।  इसी के साथ-साथ अमृतसर रेलवे स्टेशन की दोनसाईड सिवल लाइन व गोल बाघ पर 3 -स्टार व् 5 स्टार होटल एवं माल व फ़ूड कोर्ट बनाया जाएगा। इसी के साथ एक बिल्डिंग बनाई जाएगी जिसमें रेल अधिकारियों के आफिस होंगे। मलिक के प्रयासों की बदौलत केन्द्रीय सरकार से अमृतसर रेलवे स्टेशन को सर्व सुविधा सम्पन्न वर्ल्ड क्लास स्टेशन बन रहा है।
 
मलिक ने कहा कि स्टेशन के प्लेटफार्म यात्रियों के लिए पीने वाले पानी के लिए वैंडिंगमशीने लगाई गई है जिससे निम्न मूल्य पर स्वच्छ पानी उपलब्ध है, लोगों को अच्छा व स्वच्छ खाना मुहैया करवाने हेतु फूड कोर्ट बनाया गया है। आधुनिक ईलैक्टोनिक नई टिकट वितरण सिस्टम खिड़किया (पूरी तरह वातानूकूलित)  बनवाई गई है। यात्रियों की सुविधा के लिए वर्ल्ड क्लास इको पंखा जो की 50 पंखो की हवा एक साथ देता है को लगाया गया है। इसके साथ ही स्टेशन पर आधुनिक पार्किंग व्यवस्था, सुरक्षा के लिए संडर लाइटिंग इसके अतिरिक्त नए वेटिंग व रेटायरिंग रूम बनाये गए हैं जिससे कि  पास पड़ते गांवों से आये यात्रियों व गाड़ी की प्रतीक्षा कर रहे लोगों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। नई सुविधाएं संपन्न विश्राम कक्ष ( वेटिंग हाल)  के साथ यात्रियों की सुविधा के लिए डिस्पले बोर्ड लगाये जा रहे है जिससे यात्रियों को आने व जाने वाली गाड़ियों के समय व प्लेटफार्म की जानकारी आसानी से मिल सके और उन्हे इनक्वायरी की कतारों में लगने से होने वाले कष्ट से निजाद मिल सके। बिजली के अनावश्यक खर्च से बचने के लिए अमृतसर रेलवे स्टेशन पर विधुत पूर्ति के लिए सोलर सिस्टम लगाया गया है। व्यापारियों की सुविधा के लिए नया वातानुकूलित पार्सल रूम तैयार किया गया है, गाड़ियों की साफ-सफाई के लिए दो नई वाशिंग लाईन बनाई गई है, जिससे की गाड़ियों को साफ-सफाई के लिए लंबा इंतज़ार ना करना पडे़। मलिक ने बताया कि छहार्टा रेलवे स्टेशन पर 60 करोड़ के विकास कार्य चल रहे है,  कार्य पूर्ण होने के बाद 23 गाड़ियों को छहार्टा रेलवे स्टेशन से चलाया जायेगा जिससे अमृतसर रेलवे स्टेशन पर गाड़ियो का ट्रैफिक कम होगा। मलिक ने कहा कि रेलवे लाइन पर गाड़ियों को सिग्नल देने के लिए पहले मेनुअली सिस्टम से कार्य किया जाता था, जिसके चलते मानवीय गलती होने से दुर्घटना हो जाती थी, अब आधुनिक इलेक्ट्रॉनिकट टक्नॉलोजी की सुविधा शुरू की जा रही है। गोल बाग की तरफ वाले स्टेशन पर श्री दुर्ग्याणा मंदिर का मॉडल लगाया गया है।
 
मलिक ने बताया कि स्टेशन पर नई एल. ई. डी. लाईटे लगाई गई है पर्यावरण के संरक्षन के लिए स्टेशन पर वर्टीकल गार्डन बनाया गया है। स्टेशन के बाहर सुरक्षा दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे व स्कैनर लगाये जा रहे है।  रेलवे स्टेशन पर पूरी तरह से वाई- फाई की सुविधा यात्रियों के लिए मुफ्त दी जा रही है। शहर के निवासियों को ट्रैफिक से राहत दिलाने के लिए भंडारी पुल पर नये रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण किया गया है।  इसके अतिरिक्त चार नये ओवरब्रिज पास करवाये है जिसमें भण्डारी पुल, वल्ला पुल, जोड़ा फाटक व रीको बृज है। जिससे की अंदूरन शहर वासियों को शहर से बाहर निकालने के लिए सीधा रास्ता मिला है,