जनमंच’ जनता से सीधा संवाद स्थापित करने का एक महत्वकांक्षी मंच: राकेश पठानिया

Breaking News

जनमंच’ जनता से सीधा संवाद स्थापित करने का एक महत्वकांक्षी मंच: राकेश पठानिया

13 पंचायतों के लोगों की समस्याओं का मौके पर किया निपटारा


धर्मशाला,  12 सितम्बर: वन, युवा सेवायें एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया ने आज रविवार को नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, सेराथना मेें जनमंच कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि ‘जनमंच’ प्रदेश की जनता के लिए सरकार के साथ सीधा संवाद स्थापित कर उनकी समस्याओं का मौके पर समाधान करने का एक महत्वकांक्षी मंच है। इसका मुख्य उद्देश्य जन शिकायतों के निपटारे की ऐसी व्यवस्था करना है, जिससेे लोगों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े और उनकी शिकायतों का घरद्वार निपटारा सुनिश्चित हो।
  राकेश पठानिया ने कहा कि जनता की समस्याओं का समयबद्ध एवं त्वरित समाधान उन्हें घर बैठे उपलब्ध करवाने के लिए ‘‘मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन’’ शुरू की है। इसके अन्तर्गत कोई भी व्यक्ति 1100 नम्बर पर फोन कर अपनी समस्या दर्ज करवा सकता है, जिसका एक निश्चित अवधि में सम्बन्धित विभाग द्वारा समाधान किया जाना अनिवार्य बनाया गया है। उन्होंने कहा कि यह सेवा लोकप्रिय हो चुकी है और जनता की अधिकतर शिकायतों का त्वरित समाधान संभव हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जनमंच में आने वाली शिकायतों व मांगों पर स्वयं नजर रख रहे हैं तथा शिकायतों के समाधान में हुई प्रगति की लगातार समीक्षा कर रहे हैं।


कार्यक्रम में क्षेत्र की 13 पंचायतों ठानपुरी, रजियाणा(53 मील), सदरपुर, कलेड़, रौंखर, सेराथाना, जसौर, पटियालकड़, धलूं, रिन, बलधर, सिहुंड, रूमेेहड़ पंचायतों के लोग शामिल रहे।

जनमंच कार्यक्रम में विभिन्न विभागों से जुड़े कुल  62 मामले प्रेषित हुए जिनमें से  अधिकांश का मौके पर निपटारा कर दिया गया। शेष सभी समस्याओं का निपटारा अगले 10 दिनों के भीतर सुनिश्चित करने के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए। कार्यक्रम में यह भी अवगत करवाया गया कि जनमंच से पूर्व की अवधि में लोगों की 21 समस्याएं प्राप्त हुईं थीं, इनमें से  17 मामलों का निवारण जनमंच दिवस से पूर्व किया जा चुका है, जबकि शेष समस्याओं के निराकरण पर कार्यवाही जारी है।
 

जनमंच दिवस पर स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सा शिविर में करीब  210 लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जांच की गई। इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने के लिए भी शिविर लगाया गया था। जिसमें 28 लोगों का टीकाकारण किया गया। आयुर्वेद विभाग द्वारा आयोजित निःशुल्क चिकित्सा शिविर में भी लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों ने स्टॉल लगाकर लोगों को संबंधित विभागीय सरकारी योजनाओं की जानकारी दी। कार्यक्रम में स्वयं सहायता समूहों द्वारा भी उनके द्वारा तैयार उत्पादों के स्टॉल लगाये गए थे।

वन मंत्री ने नई मुहिम ‘‘एक बूटा बेटी के नाम’’ के तहत राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सेराथाना के नज़दीक सुषमा कुमारी के घर आम्रपाली का पौधा रोपित किया। पठानिया ने कहा कि यह बच्चियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति समाज में संवेदनशीलता बढ़ाने का प्रयास है।

पठानिया ने  छः पात्र परिवारों को मुख्यमंत्री गृहणि सुविधा योजना के तहत निःशुल्क गैस चुल्हे, बेटी है अनमोल योजना के तहत तीन लाभार्थी बच्चियों के परिजनों को 12-12 हजार रुपये की  तथा शगुन योजना के तहत चार पात्र परिवारों को 31-31 हजार रुपये की एफडीआर भेंट की। उन्होंने  रेडक्रॉस सोसायटी की तरफ से 20 दिव्यांगजनो को विभिन्न यन्त्र  वितरित किये।
 

इस अवसर पर स्थानीय विधायक अरुण मेहरा ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार का प्रयास है कि लोगों की समस्याओं का उनके घरद्वार पर त्वरित और स्थाई समाधान हो और उन्हें सरकारी कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े। उन्होंने लोगों से अपनी समस्याओं के समाधान और सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए जनमंच कार्यक्रम का भरपूर उपयोग करने का आग्रह किया।
  नगरोटा बगवां के सेराथना में आयोजित  में जनमंच आयोजित करने के लिए कार्यक्रम में लाभान्वित हुए लोगों ने प्रदेश सरकार का आभार जताया। उन्होंने हिमाचल सरकार की घरद्वार पर उनकी समस्याओं का त्वरित एवं स्थाई समाधान करने की इस अनूठी पहल की सराहना की और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व प्रदेश सरकार के प्रति भी आभार प्रकट किया।


  इस अवसर पर उपायुक्त कांगड़ा डॉ. निपुण जिंदल, पुलिस अधीक्षक खुशहाल शर्मा, एडीसी राहुल कुमार,  जिलाध्यक्ष चंद्रभूषण नाग, एसडीएम नगरोटा बगवां शशिपाल नेगी सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तर के अधिकारी एवं पंचायती राज संस्थाओं के जन प्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।