पंजाब कॉंग्रेस में हलचल, बदल सकते हैं चीफ मिनिस्टर,

ख़बरों के अनुसार आज पंजाब कॉंग्रेस में नेता का बदलाव हो सकता है. चीफ मिनिस्टर कप्तान अमरेंद्र सिंह अगर कांग्रेस विधायक दल की बैठक में बहुमत साबित नहीं कर पाए तो उनसे यह पदभार वापिस लिया जा सकता है.
 
पंजाब में कांग्रेस के 50 से अधिक विधायकों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाया जाए. सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस आलाकमान भी अब इस विवाद को और टालना नहीं चाहता. सूत्रों ने बताया कि आलाकमान ने पंजाब के पर्यवेक्षकों को निर्देश दिया है कि राज्य में जारी रस्साकशी को खत्म करने में अब देर नहीं करनी है. विधायक दल की बैठक में जिसके पक्ष में बहुमत होगा, वही राज्य की कमान संभालेगा. कैप्टन के पास बहुमत नहीं होगा तो बदलने का फैसला तुरंत ले लिया जाएगा.
पिछले कुछ समय से पंजाब कॉंग्रेस में कुछ भी ठीक नहीं हो रहा है.
 
नेता बदलने के लिए नवजोत सिंह सिद्धू भी लगातार यह आवाज उठाते रहेे हैं. उनके अनुसार अगर कॉंग्रेस ने अपने नेता को नहीं बदला तो इसका खामियाजा आने वाले समय में चुनाव में कॉंग्रेस को भुगतना पड़ सकता है.
 
अगले साल पंजाब विधान सभा के चुनाव होने है और यह उठक पटक इसी कड़ी का नतीज़ा है.
 
अब देखना यह है कि अगर कॉंग्रेस अपना नेता बदलती है तो अमरिंदर सिंह क्या करते है.
 
ख़बरों के मुताबिक सुनील जाखड़, सुखजिंदर रंधावा और प्रताप सिंह बाजवा में पं कोई एक अगला मुख्यमंत्री हो सकता है.