धीरा में बनेगा 517 लाख से मिनी सचिवालय, विपिन परमार ने किया  भूमिपूजन

Breaking News

धीरा में बनेगा 517 लाख से मिनी सचिवालय, विपिन परमार ने किया  भूमिपूजन

धीरा में 517 लाख से बनने वाले मिनी सचिवालय  का किया  भूमिपूजन
 
 
 
 सामुदायिक भवन गदयाडू का किया उद्घाटन
 
 
 रझू़ं में  315  लाख से बनने वाली   आईटीआई  का किया भूमिपूजन
 
 
 10 पात्र परिवारों को बांटे 3.9 लाख  रुपये के राहत राशि के चेक
 
 
धीरा तथा रझू़ं में लोगों की समस्याओं का किया निपटारा
 
 
पालमपुर, 19 अगस्त :  विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने आज सुलाह विधानसभा क्षेत्र के धीरा, गदयाडू तथा  रझू़ं में 837 लाख रुपये के भूमिपूजन तथा उद्घाटन किये।
 
परमार ने धीरा में  517 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले मिनी सचिवालय  का भूमिपूजन किया। उन्होंने कहा कि मिनी सचिवालय भवन के बनने से सभी कार्यालय एक छत के नीचे कार्य करेंगे तथा लोगों को सभी सुविधाएं एक ही जगह प्राप्त होंगी।
 
सामुदायिक भवन  गदयाडू  का किया उद्घाटन
 
इसके उपरांत विपिन सिंह परमार ने गदयाडू में पांच लाख रुपये की लागत से नवनिर्मित सामुदायिक भवन का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि  इस भवन  के बनने से इस क्षेत्र के लोगों को  धार्मिक तथा सामाजिक समारोह इत्यादि करने में सुविधा होगी।  
 
 
आईटीआई रझू़ं का किया भूमिपूजन
 
 
इसके उपरांत विधानसभा अध्यक्ष ने रझू़ं में 315 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले आईटीआई रझू़ं का भूमिपूजन किया।
 
परमार ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं। सरकार का प्रयास है कि युवाओं के हुनर को तराशकर उन्हें नई दिशा दी जाए ताकि वे रोजगार प्राप्त करने अथवा स्वरोजगार लगाने के लिए उपयुक्त ज्ञान, कौशल और अवसरों से परिपूर्ण हों । वार्षिक बजट में तकनीकी शिक्षा क्षेत्र के लिए प्रतिवर्ष निरन्तर वृद्धि के साथ-साथ नई शैक्षणिक संस्थाएं खोलने पर बल दिया गया है।
 
उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे अपने बच्चों को तकनीकी शिक्षा की ओर प्रेरित करें ताकि युवा पीढ़ी स्वरोजगार के लिए सक्षम बन सके।
 
 
पात्र परिवारों को बांटे 3.9 लाख के चेक
 
 
इस अवसर पर विपिन सिंह परमार ने मुख्यमंत्री कन्या दान योजना के तहत तीन पात्र परिवारों को 51-51 हज़ार,  शगुन योजना के तहत 4 पात्र परिवारों को 31-31 हज़ार  तथा मुख्यमंत्री राहत कोष के तहत दो परिवारों को 11-11 हज़ार रुपये तथा एक परिवार को 10 हज़ार रुपये के चेक वितरित किये।
 
 
परमार ने कहा कि राजकीय महाविद्यालय नोरा में विज्ञान भवन का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर जारी है जिसके ऊपर लगभग अढ़ाई करोड़ की राशि व्यय की जा रही है और लगभग यह बन कर तैयार है, जल्द ही इसका लोकार्पण कर इसे यहां छात्रों की सुविधा हेतू शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धीरा के भवन पर तीन करोड़ की राशि खर्च की जा रही है जिसका काम भी शुरू हो चुका है।
 
परमार ने कहा कि सुलह में हो रहे विकास में धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी इसी कड़ी में धीरा से देवी टिल्ला सड़क(पीएमजीएसवाई) पर साढ़े नो करोड़ खर्च कर इसे पूरा कर दिया गया है, नाबार्ड के तहत सत्ताईस करोड़ की लागत से पनापर हार से खोली तक सड़क बनकर तैयार है,नाबार्ड के तहत ही पनियाली से झूँगा देवी और रड़- पनियाली-कोहलड़ू-कलूणा-गलूहि सम्पर्क सड़क बन रही हैं जिन पर भी क्रमशः छप्पन व बासठ करोड़ खर्च किये जा रहे हैं इन दोनों सड़कों के निर्माण कार्य आबंटित भी कर दिए गए हैं।
 
परमार ने कहा कि हर घर जल नल योजना के तहत लोगों को पानी की किसी प्रकार की कोई कमी न रहे इसके लिए एक पेयजल योजना झरेठ-रझूं-परौर-खड़ोठ साढ़े पांच करोड़ की लागत से निर्माणाधीन है जो जल्द ही बन कर तैयार होने वाली है, परौर से धीरा तक की पुरानी पाइप लाइन को बदल कर नई डाल कर इसे चालू भी कर दिया है।
उन्होंने कहा कि दो करोड़ सत्तर लाख से किसानों के लिए एक सिंचाई योजना नोरा में निर्माणाधीन है जिसका कार्य युद्धस्तर पर जारी है।राय दी कूहल में सीएडी के अंतर्गत 563 लाख  रुपये की स्वीकृति भी दिला दी गई है जिसका काम भी जल्द शुरू होने जा रहा है।
 
 तीन करोड़ पांच लाख की चौकी-जोना-क्यारवां पेयजल योजना का कार्य भी जल्द ही पूरा होने वाला है।धीरा में बीस लाख रुपये की लागत से तीन लाख लीटर पानी की क्षमता वाला एक वाटर टैंक बनाया जा रहा है ताकि लोगों को पीने के पानी की कोई कमी न रहे।पानी की वितरण प्रणाली के सुधार के लिए भी पच्चत्तर लाख रुपये खर्च किये जा रहे हैं। उन्होंने धीरा के फायर ब्रिगेड का यूनिट खोलने की घोषणा की।
 
पेयजल योजना झरेट   रझू़ं  नाबार्ड के अंतर्गत 543 लाख की राशि स्वीकृत हुई है जिसके अंतर्गत मुख्य पाइप लाइन 150 एमएम 6 किलोमीटर को बदल दिया गया है। इस पेयजल योजना के तहत 9 नम्बर भण्डारण टैंकों का निर्माण कर 8 नंबर भण्डारण टैंकों को चालू कर दिया गया है। पेयजल योजना  झरेट  रझू़ं जल जीवन मिशन के अंतर्गत 394 लाख रुपए की राशि स्वीकृत हुई है। योजना के अंतर्गत 45 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाई जाएगी और 4 भण्डारण टैंकों का निर्माण किया जायेगा।
 
 
रझू़ं आईटीआई के लिए अस्थायी शेडों के निर्माण पर 11.55  लाख रुपये, संपर्क सड़क रड पन्याली से कोहलरु, गमूह, गलूही कालून सड़क पर 621.50 लाख, चीड़न से थिरक वाया गांव देवी सड़क का निर्माण पर 672.42 लाख रुपये व्यय किये जा रहे हैं। 21 लाख से चंबी में स्वास्थ्य उप केंद्र का निर्माण, 24 लाख से झरेट से त्रुटिवत खतीन सड़क को पक्का किया गया। सात-सात लाख से चोबू कुरना, लहजेहर गगेहर सडक़ को पक्का किया गया। इसके अतिरिक्त 180 लाख से मघेड़ से पीरा सड़क का कार्य पूरा हो चुका है।
 
 
परमार ने सुनीं जनसमस्याएं
 
विधानसभा अध्यक्ष ने धीरा तथा  रझू़ं में लोगों की समस्यायें भी सुनीं तथा अधिकांश का मौके पर निपटारा किया तथा शेष समस्याओं के निपटारे हेतु सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये। 
 
इस अवसर पर हरिदत्त शर्मा, जिलाध्यक्ष  मंडलाध्यक्ष कैप्टन देश राज शर्मा,  महामंत्री विपिन जम्वाल, प्रधान धीरा कविता धरवाल, बीडीसी उपाध्यक्ष राजेश मेहता,  एसडीएम धीरा डॉ.आशीष शर्मा, तहसीलदार सुरेश कुमार, चंद्रवीर पाल, अधिशाषी अभियंता मुनीष सहगल, अधिशासी अभियंता जल शक्ति विभाग अनिल पुरी, सीडीपीओ विजय शर्मा, सुनील मेहता, प्रधान धर्म चंद, अर्जुन सिंह सपेहिया, मेहर चंद सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधि और क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।