मुख्यमंत्री माइनिंग माफिया के सरगना, सुखबीर बादल

Breaking News

मुख्यमंत्री माइनिंग माफिया के सरगना, सुखबीर बादल

कांग्रेस के तीन पार्षद गुरदीप सिंह नरूला , जसबीर सिंह निजामपुरा व अशवनी कुमार ने कांग्रेस को अलविदा कह कर शिरोमणि अकाली दल बादल का दामन थामा ।

 

अमृतसर , (कुमार सोनी ) कांग्रेस पार्टी के पार्षद जगदीप सिंह नरूला , अश्विनी कुमार अपने साथियों सहित मंगलवार को कांग्रेस को अलविदा कहकर शिरोमणि अकाली दल बादल में शामिल हो गए । शिरोमणि अकाली के अध्यक्ष स सुखबीर सिंह बादल व अमृतसर उतरी  विधानसभा क्षेत्र से शिरोमणि अकाली दल बादल के प्रत्याशी अनिल जोशी ने सिरोपा डालकर पार्टी में शामिल किया। स बादल ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री माइनिंग माफिया के सरगना है । स बादल ने कहा मुख्यमंत्री चन्नी के भांजे भूपेंद्र सिंह हनी के ठिकानों से ईडी द्वारा लगभग 10 करोड रुपए व अन्य बेशुमार प्रॉपर्टी के दस्तावेज मिले हैं। अभी जांच चल रही हैं बहुत कुछ और मिलने की संभावना है। उन्होंने आरोप लगाते कहा अगर मुख्यमंत्री चन्नी के ठिकानो पर रेड होती तो बहुत कुछ मिल सकता था।   स बादल ने कहा हनी ही मुख्यमंत्री चन्नी का काम संभालता था सारा लेन देन वही करता था । उन्होंने कहा मुख्यमंत्री चन्नी को तुरंत अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए । उन्होंने कहा मुख्यमंत्री चन्नी ने अपने कार्यकाल में सिर्फ पैसे इकट्ठे किए हैं  विकास का कोई भी काम नहीं किया। स बादल ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ,मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी व सुनील जाखड़ को बापू गांधी के तीन बंदरों की संज्ञा देते हुए कहा तीनों ने बापू गांधी के बंदरों की तरह पोस्टर लगा रखे हैं। उन्होंने कहा कांग्रेस को उसके नेता ही पराजित करने पर तुले हुए हैं। स बादल ने आम आदमी पार्टी द्वारा भगवंत मान को मुख्यमंत्री का प्रत्याशी बनाए जाने पर कहां मान डम्मी मुख्यमंत्री प्रत्याशी है । सारा कंट्रोल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के हाथ में रहेगा । उन्होंने आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि केजरीवाल ने कई असामाजिक तत्वों जिन पर केस दर्ज है को टिकटें दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल की मंशा पंजाब को लूटने की है । केजरीवाल का पंजाब के साथ कोई सरोकार नहीं है। उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के विधानसभा क्षेत्र डेरा बाबा नानक से भी कई कांग्रेसी नेता अपने समर्थकों सहित शिरोमणि अकाली दल में शामिल हुए।



Categories