जनमंच हमीरपुर में, सिरमौर में श्री रेणुकाजी मेला, और धर्मशाला में सर्दियों की तैयारियां ,

जनमंच हमीरपुर में, सिरमौर में श्री रेणुकाजी मेला, और धर्मशाला में सर्दियों की तैयारियां ,

झिरालड़ी में 21 को आयोजित होने वाले जनमंच का लाभ उठाएं क्षेत्रवासी : डीसी

क्षेत्र की 5 ग्राम पंचायतों और नगर पंचायत भोटा के लोगों की समस्याओं का होगा समाधान

हमीरपुर। बड़सर विधानसभा क्षेत्र की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला झिरालड़ी में 21 नवंबर को आयोजित किए जा रहे जनमंच के लिए जिला प्रशासन और उपमंडल प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां तेजी से पूरी की जा रही हैं। उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने बताया कि शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज की अध्यक्षता में आयोजित किए जा रहे इस कार्यक्रम में क्षेत्र की ग्राम पंचायत लोहडर, करेर, पाहलू, पटेरा, मोरसू सुल्तानी और नगर पंचायत भोटा के निवासियों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
क्षेत्रवासियों से जनमंच का लाभ उठाने की अपील करते हुए उपायुक्त ने बताया कि जनसमस्याओं के त्वरित समाधान के लिए इस क्षेत्र के लोगों से पहले ही शिकायतें आमंत्रित कर ली गई हैं तथा इन्हें संबंधित विभागों को प्रेषित किया जा रहा है। जनमंच के दिन विभागीय अधिकारी इन जनसमस्याओं के समाधान का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने बताया कि संबंधित पंचायतों मेें प्री-जनमंच कार्यक्रम भी आयोजित किए जा रहे हैं, ताकि अधिकांश जनसमस्याओं का समाधान लोगों के घरद्वार पर ही संभव हो सके।
उपायुक्त ने बताया कि 21 नवंबर को जनमंच में जनसमस्याओं की सुनवाई के साथ-साथ लोगों के कई आवश्यक दस्तावेज, प्रमाण पत्र, लाइसेंस और विभागीय योजनाओं से संबंधित कार्ड भी मौके पर ही तैयार किए जाएंगे। इसके अलावा विभिन्न विभागों की प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी और स्वास्थ्य व आयुर्वेद विभाग मेडिकल जांच शिविर लगाएंगे।
----
भोटा और मोरसू में सुनीं जनसमस्याएं, 19 को मोरसू सुल्तानी और पटेरा में होंगे प्री-जनमंच
बड़सर के एसडीएम शशि पाल शर्मा ने बताया कि वीरवार को नगर पंचायत भोटा और ग्राम पंचायत लोहडर में प्री-जनमंच शिविर आयोजित किए गए। इस दौरान विभागीय अधिकारियों ने लोगों को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी तथा इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया। प्री-जनमंच के दौरान विभिन्न जनसमस्याओं एवं मांगों से संबंधित 16 आवेदन प्राप्त हुए। एसडीएम ने बताया कि शुक्रवार को ग्राम पंचायत मोरसू सुल्तानी और पटेरा में भी प्री-जनमंच के दौरान जनसमस्याओं की सुनवाई की जाएगी।


श्री रेणुकाजी मेला में वाद्य दलों के कलाकारों ने देवतालों से  किया लोगों का मनोरंजन


श्रीरेणुकाजी मेला 2021 के सभी खेल प्रतियोगिताओं के फाइनल मुकाबले होंगे कल

नाहन - अंतरराष्ट्रीय श्री रेणुकाजी मेला 2021 के पांचवें दिन वाद्य दलों के कलाकारों की प्रस्तुति मुख्य आकर्षण का केन्द्र रही। आज सुबह रेणु मंच से खुंड गांव के शिरगुल वाद्य दल व युवक मंडल दिगवाह के परशुराम वाद्य दलों के कलाकारों ने देव तालों जिसमें फुलणिया, नौगत ताल, पाची ताल, गीह, रासा, ढीली नाटी ताल, बटौउड़, जंग ताल और बिशु  बजाकर लोगों का खूब मनोरंजन किया।  इसके अतिरिक्त आज खेल प्रतियोगिताएं भी मुख्य आकर्षण का केन्द्र रही। पुलिस अधीक्षक सिरमौर ओमापति जम्वाल ने आज सांय कालीन सत्र में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। जबकि प्रातःकालीन सत्र का शुभारंभ उपमंडलाधिकारी संगडाह डॉ. विक्रम नेगी ने किया।
आज  पुरूष वर्ग में वॉलीबॉल व कबड्डी के मैच खेले गए। वॉलीबॉल के प्रथम सेमीफ़ाइनल में एक्ससर्विसमैन संगड़ाह की टीम ने पी.जी. कॉलेज सोलन को  2-1 से हराया जबकि दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में  सराहां ने पांवटा साहिब गोजर  को  2-0 से हराया। कबड्डी  के प्रथम सेमीफाइनल मुकाबले में स्पोर्ट्स अकादमी शिलाई-1 ने स्पोर्ट्स क्लब संगड़ाह को 40-27 से परास्त किया। दूसरा मुकाबला  परशुराम क्लब घलजा बनाम  सेवन स्टार  धारटी धार के बीच खबर लिखे जाने तक मैच जारी रहा। पिछले कल खेले गए  लड़कियों के वॉलीबॉल के फाइनल मुकाबले में फागू की टीम ने दीदग को 2-1से  मात दी।
खेल प्रतियोगिताओं के बारे में जानकारी देते हुए एसडीएम नाहन रजनेश कुमार ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेला 2021 के खेल प्रतियोगिताओं के फाइनल मुकाबले कल होंगे। आज के दिन मेला में डीएसपी शक्ति सिंह व तहसीलदार ददाहू चेतन चौहान भी उपस्थित रहे .


तैयारियां : सर्दियों के सीजन में जिला तथा उपमंडल स्तर पर खुले रहेंगे कंट्रोल रूम
सभी विभागों को आपदा प्रबंधन के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश

धर्मशाला - सर्दियों के सीजन में हिमपात तथा बारिश आरंभ होने से पहले आपदा से बचाव के लिए जिला प्रशासन ने तैयारियां आरंभ कर दी हैं, जिला स्तर तथा उपमंडल स्तर पर आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम खोलने के लिए दिशा-निर्देश भी दे दिए गया हैं ताकि आपदा से त्वरित प्रभाव से निपटा जा सके। यह जानकारी उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने वीरवार को एनआईसी सभागार में सर्दियों के सीजन में आपदा से निपटने की पूर्व तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
उपायुक्त ने कहा कि सभी विभागों को सर्दियों के सीजन के दौरान आपदा प्रबंधन से जुड़े कार्यों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करने निर्देश भी दिए गए हैं ताकि आपदा प्रबंधन का कार्य सुचारू रूप से सके। उन्होंने कहा कि सभी उपमंडलाधिकारियों को पंचायत प्रतिनिधियों तथा वालंटियर्स के साथ आपदा प्रबंधन को लेकर आवश्यक बैठकें आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि मौसम के पूर्वानुमान की जानकारी नियमित तौर पर लोगों तक पहुंचाने के लिए भी उपयुक्त कदम उठाए जाएंगे ताकि आम जनमानस पहले से ही मौसम को लेकर पहले से अलर्ट रहें।
उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में हिमपात की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों में ट्रैकिंग पर अंकुश लगाया जाएगा इसके साथ ही भू-स्खलन को लेकर संवेदनशील सड़कों एवं अन्य जगहों की सूची पहले से तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। भू-स्खलन इत्यादि से होने वाले नुक्सान को कम करने की दिशा में कारगर कदम उठाए जाएं इसके साथ ही लोक निर्माण विभाग, आईपीएच तथा विद्युत विभाग को आपदा प्रबंधन की दृष्टि से जेसीबी मशीनें और आवश्यक उपकरण भी पहले से तैयार रखने के निर्देश दिए गए हैं।     उपायुक्त ने कहा कि खाद्य आपूर्ति विभाग को भी आवश्यक खाद्य वस्तुओं का दुर्गम क्षेत्रों में भंडारण सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि आपदा के दौरान राहत कार्यों में किसी भी स्तर पर बिलंब नहीं किया जाए।
इससे पहले एडीएम रोहित राठौर ने कांगड़ा जिला में सर्दियों सीजन को लेकर आपदा प्रबंधन की पूर्व तैयारियों को लेकर उठाए गए कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई। इस अवसर पर एसपी खुशहाल शर्मा, एडीसी राहुल कुमार सहित लोक निर्माण विभाग, आईपीएच विभाग, विद्युत विभाग, वन विभाग, खाद्य आपूर्ति विभाग तथा पुलिस विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।