विश्राम गृह के अतिरिक्त भवन पर व्यय होंगे 112 लाख रुपए - सरवीण चौधरी

विश्राम गृह के अतिरिक्त भवन पर व्यय होंगे 112 लाख रुपए - सरवीण चौधरी


धर्मशाला, 21 जून- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी ने आज शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के शाहपुर में 112 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले विश्राम गृह के अतिरिक्त भवन की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि इस भवन के बनने से आम जनमानस को लाभ मिलेगा।
    उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं के कल्याण एवं सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है। उनका सामाजिक-आर्थिक उत्थान सुनिश्चित करने के लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों के दो बच्चों को दी जाने वाली जन्मोत्तर अनुदान राशि को 12,000 रुपये से बढ़ाकर 21,000 रुपये किया है। यह धनराशि जन्म के समय जन्मोत्तर अनुदान राशि और छात्रवृत्ति योजनाओं को युक्तिसंगत और एकीकृत कर सावधि जमा के रूप में प्रदान की जा रही है।
    उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सभी बीपीएल परिवारों की लड़कियों को उनकी शादी के समय 31,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए ‘शगुन’ योजना भी शुरू की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार समाज के सभी पात्र कमजोर वर्गों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन भी प्रदान कर रही है। वर्तमान में 875 करोड़ रुपये व्यय कर 5.77 लाख लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत 40,000 अतिरिक्त लाभार्थियों को कवर किया जाएगा।
    उन्होंने  कहा कि राज्य सरकार 70 वर्ष से अधिक आयु के पात्र वरिष्ठ नागरिकों को 1500 रुपये प्रतिमाह सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष से सरकार ने स्वर्ण जयंती नारी संबल योजना के तहत 65 से 69 वर्ष की आयु वर्ग की पात्र वृद्ध महिलाओं के लिए बिना किसी आय सीमा से सामाजिक सुरक्षा के दायरे का विस्तार करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि लगभग 60,000 पात्र महिलाओं को प्रतिमाह 1000 रुपये की सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जाएगी।
     सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने बताया कि धारकण्डी को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने हेतु जल्द ही वहाँ एक हेलीपैड का निर्माण किया जायेगा जिसके लिए भूमि के चयन की प्रक्रिया जारी है। इस हेलीपैड के बन जाने से करेरी लेक व खबरू फॉल का आनंद उठाने के लिए पर्यटकों की सुविधा हेतू धारकण्डी के विकास में विशेष योगदान रहेगा।
    इस अवसर पर उन्होंने विश्राम गृह शाहपुर में लोगों की समस्याओं को भी सुना जिनमें से अधिकांश का मौके पर निपटारा कर दिया गया तथा अन्य समस्याओं को सम्बन्धित विभागाध्यक्षों को निपटारे के लिए आदेश दे दिए गए।