मुख्यमंत्री ने की पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तीसरे और चौथे चरण के शुभारम्भ की तैयारियों की समीक्षा

मुख्यमंत्री ने की पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तीसरे और चौथे चरण के शुभारम्भ की तैयारियों की समीक्षा

शिमला 
       
21 सितम्बर, 2021
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां प्रदेश के विधायकों और उपायुक्तों के साथ वर्चुअल माध्यम से आयोजित बैठक में 25 सितम्बर, 2021 को राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तीसरे और चौथे चरण के शुभारंभ की तैयारियों की समीक्षा की।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल शिमला में इस अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह की अध्यक्षता करेंगे। केन्द्रीय मंत्री इस दौरान योजना के लाभार्थियों के साथ बातचीत भी करेंगे। इसी प्रकार, जिला मुख्यालय, उपमंडल, खंड, पंचायत और उचित मूल्य की दुकानों के स्तर पर भी समारोह आयोजित किये जाएंगे, जिसमें कुछ लाभार्थियों को राशन बैग भी उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस समारोह की अध्यक्षता करने वाले थे, लेकिन पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के कारण वह इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायक अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र के किसी एक स्थान से समारोह में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि जिन खण्डों में पंचायती राज संस्थाओं के उपचुनावों के कारण आदर्श आचार संहिता लागू की गई है, वहां समारोह का आयोजन नहीं किया जाएगा। प्रदेश भर के सभी प्रमुख स्थानों पर 140 एलईडी स्क्रीन स्थापित की जाएंगी ताकि लोग राज्य स्तरीय समारोह का सीधा प्रसारण देख सकें और इसमें अपनी सहभागिता जता सकें। जिला, उपमंडल, खण्ड, पंचायत और उचित मूल्य की दुकान स्तर पर भी इस कार्यक्रम का प्रसारण वर्चुअल माध्यम से किया जाएगा।
 
जय राम ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय में पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना गरीबों, प्रवासी मजदूरों और बेरोजगारों को खाद्य सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक बड़ी पहल है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत 7.18 लाख से अधिक राशन कार्डधारक शामिल हैं, जो लगभग 29 लाख से अधिक आबादी को कवर कर रहा है, जिन्हें अक्तूबर, 2021 के अंत तक मुफ्त राशन बैग प्रदान किए जाएंगे।
 
उन्होंने कहा कि इस समारोह के आयोजन का मुख्य उद्देेश्य योजना के लाभार्थियों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करना है, ताकि एनएफएसए परिवारों को राहत प्रदान करने के उद्देश्य से पिछले साल केंद्र द्वारा शुरू की गई इस विशेष योजना के बारे में उन्हें जागरूक किया जा सके। उन्होंने कहा कि 25 सितम्बर को पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती भी है, जिन्होंने अन्त्योदय की अवधारणा दी और यह उनके संदेश को आगे बढ़ाने के लिए एक प्रासंगिक दिन है।
 
मुख्यमंत्री ने उपायुक्तों को कोविड महामारी के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए और कहा कि विशेष रूप से काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए ताकि कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कोविड टीकाकरण के दूसरे चरण की प्रगति की निरन्तर निगरानी करने के लिए कहा ताकि नवम्बर, 2021 के अंत तक शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया जा सके। उन्होंने कहा कि अभी तक 23.10 लाख लोगों को वैक्सीन की दूसरी खुराक दी जा चुकी है।
 
बैठक में बिलासपुर से वर्चुअल माध्यम से जुड़े खाद्य, नागरिक एवं आपूर्ति मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने कहा कि इस समारोह के सफल आयोजन के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। उन्होंने इस कल्याणकारी योजना को आरम्भ करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया और राज्य में इसके प्रभावी कार्यान्वयन के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की।
 
मुख्य सचिव राम सुभग सिंह ने उपायुक्तों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि योजना के प्रत्येक लाभार्थी को इस वर्ष अक्तूबर के अंत तक राशन बैग उपलब्ध करवाए जाएं।
 
सचिव, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति सी. पालरासु ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया।
 
निदेशक, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति के.सी. चमन ने विभिन्न स्तरों पर आयोजित होने वाली गतिविधियों के सम्बन्ध में विस्तृत प्रस्तुति दी।
 
बहुद्देशीय परियोजनाएं एवं ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी , मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, अतिरिक्त मुख्य सचिव जे.सी शर्मा सहित राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।