बेअदबी मामलों में पंथ को इंसाफ़ दिलाया जायेगा - चन्नी

मुख्यमंत्री श्री दरबार साहिब, श्री दुर्ग्याना मंदिर व भगवान वाल्मीकि तीर्थ स्थल में हुए नतमस्तक।

अमृतसर, (राहुल सोनी )
 
 मुख्यमंत्री स. चरणजीत सिंह चन्नी ने आज स्पष्ट तौर पर कहा कि बेअदबी की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के लिए पंथ को इंसाफ़ दिलाया जायेगा।
 
श्री दरबार साहिब में नतमस्तक होने के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने समानता वाले समाज की सृजन करने के लिए जाति, रंग, नस्ल और धर्म के भेदभाव से ऊपर उठ कर राज्य के लोगों की सेवा करने के लिए अरदास करके परमात्मा का आर्शीवाद माँगा। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के हरेक धर्म और समाज के हर वर्ग को बनता सम्मान दिया जायेगा और प्रशासन को धार्मिक मूल्यों के अनुसार चलाया जायेगा (राज्य धर्म अनुसार चलेगा)’’।
 
स. चन्नी ने कहा कि समाज में प्यार, भाईचारे और सदभावना के मूल्यों को हर कीमत पर कायम रखा जायेगा और यह उनकी हमेशा प्रमुख प्राथमिकता रहेगी।
 
मुख्यमंत्री ने ईमानदारी, समर्पण भावना और वचनबद्धता से पंजाब के लोगों की सेवा करने की ज़िम्मेदारी सौंपने के लिए परमात्मा का धन्यवाद किया। स. चन्नी ने कहा कि परमात्मा की कृपा से वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे और लोक-समर्थकी प्रयासों और विकास पहलकदमियों को लागू करना राज्य सरकार की प्रमुख प्राथमिकता होगी।
 
इससे पहले मुख्यमंत्री तड़के श्री हरिमन्दर साहिब पहुँचे जहाँ उन्होंने श्री दरबार साहिब और श्री अकाल तख़्त साहिब में अरदास करने से पहले परिक्रमा की। उनको पवित्र पालकी साहिब की सेवा करने का भी सौभाग्य हासिल हुआ। उन्होंने गुरबानी कीर्तन सुना। वह अरदास में शामल हुए, देग और रुमाला साहिब भेंट किया और हुक्मनामा भी सुना।
 
इसके उपरांत सूचना कार्यालय में शिरोमणि कमेटी के जनरल सचिव भगवंत सिंह सियालका और श्री दरबार साहिब के मैनेजर गुरिन्दर सिंह ने मुख्यमंत्री और अन्य आदरणियों को ‘सिरोपा’ दिया और ’श्री हरिमन्दर साहिब’ के मॉडल से सम्मानित किया।
 
श्री हरिमन्दर साहब में नतमस्तक होने के मौके पर स. चन्नी के साथ उप-मुख्यमंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा और श्री ओ पी सोनी और पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान स. नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा विधायक और मुख्यमंत्री के पारिवारिक मैंबर भी मौजूद थे।
 
इसके उपरांत मुख्यमंत्री श्री दुर्ग्याना मंदिर और भगवान वाल्मीकि तीर्थ स्थल, राम तीर्थ में भी नतमस्तक हुए जहाँ उनको वहाँ से प्रबंधक कमेटियों द्वारा सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने जलियांवाला बाग़ स्मारक का दौरा करते हुये शहीदों को श्रद्धांजलि भी भेंट की।
 
अमृतसर के दौरे के दौरान मुख्यमंत्री स. चन्नी विशेष के तौर पर उप-मुख्यमंत्री श्री ओ पी सोनी, लोक सभा मैंबर गुरजीत सिंह औजला, विधायक सुखबिन्दर सिंह सरकारिया, डा. राज कुमार वेरका और सुखविन्दर सिंह डैनी के घर भी गए।