हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का एक विशेष महत्व

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का एक विशेष महत्व

हिन्दू पंचांग :

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का एक विशेष महत्व होता है और अधिकतर घरों में तुलसी का पौधा देखने को मिलेगा. तुलसी के पौधे का धार्मिक महत्व इतना ज्यादा है कि घरों में तुलसी की पूजा की जाती है. लोग नियमित तौर पर सुबह-शाम तुलसी की दीपकर जलाते हैं और श्रद्धा भाव से पूजा आरती करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं ​कि घर में तुलसी के पौधे को किस दिशा में रखना चाहिए? क्योंकि वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी के पौधे को रखने की एक सही जगह और दिशा होनी चाहिए. साथ ही यदि आपके घर में तुलसी का पौधा है तो आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए


तुलसी का पौधा रखने की सही जगह

तुलसी का पौधा औषधीय गुणों से भरपूर होने के साथ ही आस्था का भी प्रतीक माना जाता है. इसलिए आपको यह पता होना चाहिए कि वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी का पौधा किस दिशा में रखना चाहिए. वास्तु शास्त्र के मुताबिक यदि आपके घर में तुलसी का पौधा है तो आपको बता दें कि इस पौधे का घर की बालकनी या खिड़की की उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा में लगाना चाहिए. इन दिशाओं में देवी-देवताओं का निवास माना जाता है और इन जगहों पर तुलसी के पौधे को रखना शुभ होता है.


तुलसी का पौधा हिंदू धर्म में आस्था का प्रतीक माना जाता है और इसलिए तुलसी का पौधा घर में लगाने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना बेहद जरूरी है.

ध्यान रखें तुलसी के साथ कभी भी कैक्टस और कांटेदार पौधे को कभी नहीं रखना चाहिए.


मान्यता है कि अमावस्या, द्वादशी और चतुर्दशी तिथि को तुलसी के पत्तों को भूलकर भी नहीं तोड़ना चाहिए.


रविवार के दिन तुलसी में की पूजा नहीं की जाती और न ही जल अर्पित करना चाहिए. ध्यान रखें रविवार के दिन तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए.


कहा जाता है कि तुलसी के पौधे को कभी नाखून से नहीं तोड़ना चाहिए.

 
तुलसी का पौधा यदि सूख गया है तो उसे ज्यादा दिन घर में नहीं रखना चाहिए क्योंकि इसे नकारात्मकता आती है.


तुलसी का पौधा सूख गया है तो उसे गमले से निकालकर नदी में प्रवाहित कर दें.


मान्यता है कि पूजा के दौरान देवी-देवताओं को तुलसी पत्र अर्पित करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है.


याद रखें कि गणेश जी की पूजा में तुलसी के पत्तों को भूलकर भी शामिल नहीं करना चाहिए