फतेहपुर उपचुनाव में सिर्फ कांग्रेस, प्रचंड बहुमत से जीतेंगे भवानी : राजेन्द्र राणा

Breaking News

फतेहपुर उपचुनाव में सिर्फ कांग्रेस, प्रचंड बहुमत से जीतेंगे भवानी : राजेन्द्र राणा

फतेहपुर/धर्मशाला 23 अक्तूबर
 
फतेहपुर के चुनावी रण में बीजेपी खेमे में अपने धुआंधार प्रचार से कोहराम मचाने वाले सुजानपुर के विधायक व फतेहपुर कांग्रेस के प्रभारी टास्क मास्टर राजेंद्र राणा ने महंगाई, बेरोजगारी व भ्रष्टाचार को चुनाव का मुख्य मुद्दा बनाकर बीजेपी के होश फाख्ता कर रखे हैं। फतेहपुर उपचुनाव की चौसर पर राणा के मोहरे दिन-ब-दिन चुनाव प्रचार में हावी-प्रभावी होते हुए अक्रामक मुद्रा में हैं। फतेहपुर में चुनाव प्रचार के दौरान शनिवार 23 अक्तूबर को राणा ने बीजेपी सरकार को रडार पर लेते हुए कहा कि सरकार के मुखिया कामों की झड़ी की बात कर रहे हैं लेकिन यथार्थ की जमीन पर हकीकत यह है कि फतेहपुर के गांव अभी भी पीने के पानी जैसी मूलभूत सुविधा के लिए लगातार चीख-चिल्ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब उपचुनाव की बेला पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कह रहे हैं कि आने वाले साल में फतेहपुर का विकास करवाएंगे लेकिन फतेहपुर की जनता पूछ रही है कि पिछले 4 साल में केंद्र और राज्य में बीजेपी की सरकार थी तो क्या इन चार सालों में फतेहपुर के विकास के लिए पुरोहित ने मना किया था। जनता को स्पष्ट करें। राणा ने कहा कि आम आदमी के पेट पर रोज लात मार रही महंगाई के बीच अब आम आदमी के लिए दवाई भी जहर बनने लगी है। उन्होंने खुलासा किया कि देशभर में चल रहे उपचुनावों के बीच बीजेपी ने अब आम आदमी की सेहत पर डाका डालने का इंतजाम किया है। उन्होंने कहा कि जहां देशभर में उपचुनावों की गहमागहमी के बीच रोटी-रोजी के लिए जी तोड़ प्रयास कर रही जनता पर दवाईयों को महंगा करके एक और गाज गिराई है। राणा ने कहा कि एक रपट के मुताबिक देश भर में जीवन रक्षक दवाईयां 25 से 30 फीसदी तक महंगी कर दी गई हैं। यानि के अब गरीब के लिए दवाई खरीदना भी दुष्कर हो गया है। उन्होंने कहा कि समझ यह नहीं आ रहा है कि आखिर बीजेपी सरकार सत्ता के दम पर आम आदमी का कचूमर निकालने पर क्यों आमादा हो गई है। राणा ने कहा कि फतेहपुर में जो भी विकास हुआ है वह सिर्फ और सिर्फ स्वर्गीय सुजान सिंह पठानिया के कार्यकाल में हुआ है। शायद यही कारण है कि बीते 15 सालों से फतेहपुर में कांग्रेस का परचम लहराता रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से ज्यादा बीजेपी के कार्यकर्ता, बीजेपी के उम्मीदवार को ज्वाली पार करने की मंशा अब उपचुनाव में जगजाहिर है। राणा ने कहा कि सरकारी सिस्टम व सरकारी हल्ले के बावजूद बीजेपी की उपचुनाव में हालत पतली है।