ऑस्ट्रेलिया उच्चायोग को पत्र लिख हस्तक्षेप करने का किया आह्वान।

ऑस्ट्रेलिया उच्चायोग को पत्र लिख हस्तक्षेप करने का किया आह्वान।

अमृतसर,( राहुल सोनी ) ऑस्ट्रेलिया में दो महीने पहले झूठे आरोप में गिरफ्तार किए गए एक भारतीय नागरिक को बचाने के लिए भाजपा के प्रदेश महासचिव डॉ. सुभाष शर्मा ने भारत में ऑस्ट्रेलियाई उच्चायोग से  संपर्क किया है।
डॉ. सुभाष शर्मा ने आज नई दिल्ली में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल को पत्र लिखकर उन्हें अवगत कराया कि विशाल जूड को दो महीने पहले ऑस्ट्रेलियाई पुलिस ने गिरफ्तार किया था तथा तब से दो महीने के बाद से पुलिस किसी भी अपराध में उसकी गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं कर पाई है। जब विशाल जूड को लोकतांत्रिक विरोधी तत्वों द्वारा पीटा गया था, तब विशाल जूड एक देशभक्त भारतीय होने के नाते देश की आन-बान-शान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा ही केवल पकड़े हुए थे।
डॉ. सुभाष शर्मा ने अपने पत्र में स्पष्ट रूप से उच्चायुक्त के संज्ञान में लाया कि विशाल जूड अपने देश के राष्ट्रीय ध्वज तथा देश के सम्मान में धार्मिक कट्टरपंथियों के खिलाफ साहसपूर्वक खड़े हुए थे और हैं, जो नफरत का माहौल बनाते हैं। डॉ. शर्मा ने कहाकि सिडनी पुलिस पर इन भारत विरोधी तत्वों द्वारा दबाव बनाया जा रहा है। डॉ. शर्मा ने उच्च्यायुक्त के ध्यान में लाते हुए पत्र में लिखा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अत्यधिक सम्मान और सहयोग का पारस्परिक संबंध है। शर्मा ने उच्चायुक्त से इस बहादुर आदमी की तत्काल रिहाई के लिए अनुरोध किया, जिसने अलगाववादियों का सामना किया।