कांगड़ा जिला में ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग केंद्र कारगर हो रहे साबित

Breaking News

कांगड़ा जिला में ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग केंद्र कारगर हो रहे साबित

इन केंद्रों में चार हजार के करीब लोग करवा चुके हैं कोरोना टेस्ट
   
 संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए कांगड़ा जिला प्रशासन ने की पहल
   
धर्मशाला, 25 जुलाई। कांगड़ा जिला में ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग केंद्र लोगों के लिए कारगर साबित हो रहे हैं, इन केंद्रों में समय की बचत के साथ साथ स्वेच्छा से लोग कोविड टेस्ट करवाने आ रहे हैं, कांगड़ा जिला में कोविड टेस्टिंग को बढ़ाने के लिए ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग सेंटर की शुरूआत की गई, राज्य में कांगड़ा ऐसा पहला जिला है जहां पर कोविड टेस्टिंग के लिए इस तरह की पहल की गई हैं।
   
कांगड़ा जिला में इन ड्राइव इन कोविड टेस्टिंग केंद्रों में 4000 के करीब लोग टेस्टिंग करवा चुके हैं जिनमें 377 के करीब लोग पॉजिटिव भी पाए गए हैं। जिला मुख्यालय धर्मशाला के वार मैमोरियल के नजदीक, कंडबाड़ी बैरियर गंगथ, सुनेहत डाडासीबा, ब्यास रिवर ब्रिज आलमपुर में यह ड्राइव इन कोविड सेंटर संचालित किए जा रहे हैं इन केंद्रों पर प्रातः नौ बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक कोविड सेंपल लिए जा रहे हैं और रिपोर्ट की सूचना संपर्क नंबर के माध्यम से 15 से बीस मिनट के भीतर मिल रही है। इसके अलावा ज्वालामुखी मंदिर तथा चामुंडा मंदिर में भी श्रद्वालुओं के लिए कोविड टेस्टिंग की सुविधा प्रदान की गई है ताकि कोविड प्रोटोकॉल के साथ साथ संक्रमण को भी फैलने से रोका जा सके। टेस्टिंग के लिए मोबाइल वैन भी गांव गांव जाकर टेस्टिंग की सुविधा प्रदान कर रही है जीवनधारा मोबाइल वैन के माध्यम से 1780 टेस्ट किए जा चुके हैं। होटल कारोबार से जुड़े लोगों के लिए भी कोविड टेस्टिंग कैंप आयोजित किए जा रहे हैं। इसके तहत बीड, शाहपुर, गोपालपुर में 1400 के करीब होटल कारोबार से जुड़े लोगों के टेस्ट किए जा चुके हैं मैकलोडगंज, धर्मकोट तथा धर्मशाला में भी पर्यटन कारोबारियों के लिए विशेष कोविड टेस्ट कैंप आयोजित किए जाएंगे।
   
उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के साथ साथ नियमित टेस्टिंग भी जरूरी है ताकि संक्रमण समाज में नहीं फैल सके। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में विशेष कोविड टेस्टिंग अभियान आरंभ किया गया है जिसमें पर्यटन कारोबार से जुड़े सभी लोगों की टेस्टिंग का प्लान स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से तैयार किया गया है इसके साथ ही जिला भर में व्यापार मंडलों के माध्यम से दुकानदारों की भी टेस्टिंग की जाएगी इसके अतिरिक्त टैक्सी चालकों के भी नियमित तौर पर कोविड टेस्टिंग की जाएगी।
     
उन्होंने कहा कि ड्राइव इन टेस्टिंग सेंटर मुख्य मार्ग के किनारे खोले गए हैं ताकि इन मार्गों से वाहनों में गुजरने वाले लोगों को कोविड टेस्टिंग की त्वरित सुविधा दी जाएगी इसमें वाहनों की आवाजाही किसी भी स्तर पर प्रभावित नहीं हो उस के लिए भी ट्रेफिक पुलिस द्वारा भी पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रेंडम सेंपलिंग की जाएगी ताकि प्रारंभिक स्तर पर ही संक्रमण को रोका जा सके।
   
उन्होंने कहा कि अभी भी कोविड से बचाव की जरूरत है। कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं जबकि लोगों को भी कोविड प्रोटाकॉल का पूरा ध्यान रखना चाहिए उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रेंडम सेंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं इसके साथ ही कोविड संक्रमितों की संपर्क सूची के आधार पर भी सुचारू टेस्टिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग को कहा गया है।