हमीरपुर न्यूज़: कृत्रिम हाथ, बाजू या टांग लगवाने के लिए 7 दिसंबर को कांगड़ा पहुंचें दिव्यांगजन

हमीरपुर न्यूज़: कृत्रिम हाथ, बाजू या टांग लगवाने के लिए 7 दिसंबर को कांगड़ा पहुंचें दिव्यांगजन

कृत्रिम हाथ, बाजू या टांग लगवाने के लिए 7 दिसंबर को कांगड़ा पहुंचें दिव्यांगजन

हमीरपुर 25 नवंबर। किन्हीं कारणों से अपने हाथ, बाजू और टांग गंवा चुके दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग उपलब्ध करवाने के लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता के सौजन्य से कांगड़ा के यात्री निवास में विशेष शिविर आयोजित किया जा रहा है। इसमें हमीरपुर जिला के दिव्यांगजनों के लिए 7 दिसंबर का दिन तय किया गया है।
उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने बताया कि इस शिविर में दिव्यांगजनों को भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर के माध्यम से कृत्रिम अंग मुहैया करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमीरपुर जिला के दिव्यांगजन अगर कृत्रिम हाथ, बाजू या टांग लगवाना चाहते हैं तो वे 7 दिसंबर को कांगड़ा के यात्री निवास में सुबह 9 से दोपहर बाद 3 बजे तक आयोजित किए जाने वाले शिविर में जाकर इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
उपायुक्त ने जिला के सभी पंचायत जनप्रतिनिधियों, कल्याणकारी संस्थाओं और अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के कार्यकर्ताओं से आग्रह किया है कि अगर उनके क्षेत्र में कोई ऐसा जरुरतमंद दिव्यांगजन है तो उसे तथा उसके परिजनों को इस शिविर के बारे में अवश्य अवगत करवाएं, ताकि वह इस सुविधा का लाभ उठा सके। अधिक जानकारी के लिए तहसील कल्याण अधिकारी कांगड़ा के
मोबाइल नंबर 94181-94116 पर संपर्क किया जा सकता है।


बारीं, झनिक्कर, पंजोत में 26 को बाधित रहेगी बिजली
हमीरपुर 25 नवंबर। विद्युत उपमंडल टौणी देवी में 26 नवंबर को ट्रांसमिशन लाईन के कार्य के चलते गांव पटनौण, धरयाड़ा, चतरोट, दरब्यार, पंजोत, बारीं मंदिर, बराड़ा, झनिक्कर, सपनेड़ा और साथ लगते गांवों में सुबह 9 से सायं 5 बजे तक बिजली की आपूर्ति आंशिक रूप से बाधित रहेगी।
सहायक अभियंता एनआर धीमान ने इस दौरान क्षेत्र के उपभोक्ताओं से सहयोग की अपील की है। 


उचित मूल्य की 5 दुकानों के लिए 6 दिसंबर तक मांगे आवेदन

हमीरपुर 25 नवंबर। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत हमीरपुर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में खुलने वाली उचित मूल्य की 5 दुकानों के लिए दोबारा 6 दिसंबर तक आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।
जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक अरविंद कुमार शर्मा ने बताया कि हमीरपुर शहर के वार्ड नंबर-5, ग्राम पंचायत ललीण के वार्ड नंबर-3 गांव ललीण, ग्राम पंचायत धनेड़ के वार्ड नंबर-1 गांव तलासी कला, ग्राम पंचायत क्याराबाग के वार्ड नंबर-2 सुनवीं ब्राह्मणा और ग्राम पंचायत चौकी कनकरी के वार्ड नंबर-5 गांव कनकरी में खुलने वाली इन दुकानों के लिए पहले 11 नवंबर तक ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। लेकिन, इस तिथि तक कोई भी आवेदन प्राप्त न होने पर अब दोबारा 6 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इन दुकानों के लिए इच्छुक व्यक्ति या संस्थाएं वेबसाइट एमर्जिंगहिमाचल डॉट एचपी डॉट जीओवी डॉट इन पर आवेदन कर सकते हंै।
 जिला नियंत्रक ने बताया कि उचित मूल्य की दुकानों के आवंटन के लिए पहली प्राथमिकता सार्वजनिक संस्थाएं जैसे- स्थानीय पंचायत या शहरी निकाय, स्वयं सहायता समूह, सहकारी सभा, महिलाओं तथा उनके समूह को दी जाएगी। अगर एक वार्ड में एक से अधिक संस्थाएं आवेदन करती हैं तो पंजीकृत संस्था को अधिमान दिया जाएगा।
 दुकान आवंटन के लिए दूसरी प्राथमिकता विधवा या एकल नारी, दिव्यांग व्यक्ति जोकि दुकान चलाने में सक्षम हो, भूतपूर्व सैनिक या बेरोजगार व्यक्ति को दी जाएगी। जबकि, हिमाचल प्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम लिमिटेड को तीसरी प्राथमिकता दी जाएगी।
आवेदन के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता मैट्रिक पास रखी गई है। आवेदन के साथ मैट्रिक का प्रमाण पत्र, उच्च शैक्षणिक योग्यता से संबंधित प्रमाण पत्र, वित्तीय स्थिति, दुकान की उपलब्धता और भंडारण क्षमता से संबंधित सत्यापित दस्तावेज अपलोड किए जाने चाहिए। भूतपूर्व सैनिक या शिक्षित बेरोजगार होने पर परिवार के किसी भी अन्य सदस्य के नियमित सरकारी रोजगार में न होने का प्रमाण पत्र होना चाहिए। पंचायतीराज संस्थाओं, नगर निकायों, विधानसभा और संसद सदस्यों के परिजन भी इन दुकानों के लिए पात्र नहीं होंगे। आवेदक की आयु 18 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए जिला नियंत्रक कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है। 


मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के 35 आवेदनों को किया अनुमोदित


7 करोड़ 34 लाख रुपये के उद्यमों का किया जा सकेगा वित्त पोषण

हमीरपुर 25 नवंबर। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना की जिला स्तरीय समिति की बैठक वीरवार को उपायुक्त देबश्वेता बनिक की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में योजना के 40 आवेदनों पर चर्चा के बाद समिति ने 35 आवेदनों को वित्त पोषण हेतु बैंकों को प्रेषित करने का निर्णय लिया।
 उपायुक्त ने बताया कि प्रस्तावित उद्यमों में लगभग 7 करोड़ 34 लाख का निवेश होगा तथा इनमें करीब 112 लोगों को सीधा रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत इन उद्योगों के लिए सरकार की ओर से लगभग डेढ़ करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।
उपायुक्त ने कहा कि युवाओं को स्वरोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना आरंभ की है। उन्होंने कहा कि 18 से 45 वर्ष तक की आयु के हिमाचली पुरुष और 50 वर्ष तक की हिमाचली महिलाएं इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। प्रदेश सरकार ने अब इस योजना में उन्नत डेयरी विकास, दूध एवं दूध उत्पाद के लिए कोल्ड स्टोर, कृषि उपकरणों का निर्माण, रेशम प्रसंस्करण, साईलेज यूनिट, फार्मस्टे व फार्म टूरिज्म, पेट्रोल पंप, ईवी चार्जिंग स्टेशन और टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला सहित 18 नई गतिविधियों भी शामिल की हैं, ताकि अधिक से अधिक युवा इसका लाभ उठा सकें। इस योजना के अंतर्गत एक करोड़ रुपये तक की लागत के उद्यम अनुमोदित किये जा सकते हैं,  जिसमें 60 लाख रुपये तक के उपकरणों पर पुरुष उद्यमियों को 25 प्रतिशत, महिलाओं को 30 प्रतिशत और विधवाओं को 35 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है। उत्पादन में आने के बाद 60 लाख तक के ऋण पर 5 प्रतिशत का ब्याज अनुदान भी उद्यमी को दिया जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि जिला में दुग्ध उत्पादन और इससे संबंधित अन्य उत्पादों को ‘एक जिला एक उत्पाद’ योजना के तहत चयनित किया गया है। इसलिए, मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना में युवाओं को डेयरी व कोल्ड स्टोरेज यूनिट के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक विजय चौधरी ने विभिन्न आवेदनों का विस्तृत ब्यौरा प्रस्तुत किया। बैठक में एडीएम जितेंद्र सांजटा, डीआरडीए के परियोजना अधिकारी केडीएस कंवर, अन्य विभागों के अधिकारी तथा जिला अग्रणी बैंक के अधिकारी भी उपस्थित थे। 


10 लोग निकले कोरोना पॉजीटिव 

हमीरपुर 25 नवंबर। जिला में वीरवार को 10 लोग कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके अग्रिहोत्री ने बताया कि जिला में वीरवार को कोरोना टेस्ट के लिए कुल 569 सैंपल लिए गए। इनमें रैपिड एंटीजन टैस्ट के लिए 500 और आरटी-पीसीआर टैस्ट हेतु 69 सैंपल लिए गए।
 डॉ. आरके अग्रिहोत्री ने बताया कि रैपिड एंटीजन टैस्ट के कुल 500 सैंपलों में से 10 की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। उन्होंने बताया कि जिला में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों की वैक्सीनेशन के लिए जिले भर में टीकाकरण अभियान जोरों से चलाया जा रहा है। जिला के सभी 6 स्वास्थ्य खंडों के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों के अलावा मोबाइल टीमें भी फील्ड में जाकर लगातार वैक्सीनेशन कर रही हैं, ताकि निर्धारित समय अवधि के भीतर सभी लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित हो सके।