कांगड़ा जिला में पंचायत स्तरीय कोविड प्रबंधन टास्क फोर्स गठित

पंचायत प्रधान की अध्यक्षता में कार्य करेगी टास्क फोर्स

होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी भी करनी होगी

लक्षण वालों को टेस्ट करवाने, पॉजिटिव केंसों की जानकारी सांझा करनी होगी

 

धर्मशाला, 28 मई। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कांगड़ा जिला में पंचायत स्तरीय कोविड प्रबंधन टास्क फोर्स के गठन के निर्देश जारी किए गए हैं इसमें पंचायत प्रधान टास्क फोर्स के अध्यक्ष होंगे जबकि सभी वार्ड सदस्य मेंबर होंगे इसके अतिरिक्त इसमें पंचायत सचिव, पटवारी, आंगनबाड़ी वर्कर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा वर्कर, युवक मंडल, स्वयं सहायता समूह के प्रतिनिधि तथा उस क्षेत्र के निवासी अध्यापक, संबंधित पंचायत में स्थित पीएचसी के मेडिकल आफिसर, आयुर्वेदिक विभागीय कार्यकर्ता सदस्य के रूप में कार्य करेंगे। इसके अतिरिक्त टास्क फोर्स में कोविड प्रबंधन में अहम भूमिका का निर्वहन करने वाले समाजसेवी लोगों को भी शामिल किया जा सकता है।

   उपायुक्त ने बताया कि टास्क फोर्स संबंधित पंचायत में खांसी, बुखार इत्यादि के लक्षणों वाले लोगों की टेस्टिंग के लिए आवश्यक रूप प्रेरित करेंगे तथा इस बाबत स्वास्थ्य विभाग के साथ संपर्क कर टेस्टिंग की व्यवस्था करवाएंगे। संबंधित पंचायत में कोविड पॉििजटिव मामलों के बारे में राजस्व तथा स्वास्थ्य विभाग के साथ तुरंत सूचना सांझा करेंगे। हॉट स्पाट क्षेत्रों से आने वाले लोगों के बारे में भी पूर्ण विवरण रखने का कार्य भी इस फोर्स के माध्यम से सुनिश्चित किया जाएगा। कोविड संक्रमितों की मदद के लिए वालंटियर्स की टीम का गठन भी पंचायत स्तर पर करने के लिए टास्क फोर्स आवश्यक कदम उठाएगी इसके साथ ही पंचायत में ही एसडीएम तथा खंड विकास अधिकारी की मदद से सामुदायिक क्वारंटीन सुविधा तैयार करने के लिए आवश्यक प्लानिंग भी तैयार करेंगे ताकि जिन लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के लिए सुविधा नहीं होगी तो उनको सामुदायिक क्वारंटीन केंद्रों में रखने की व्यवस्था हो सके। इसके साथ ही पंचायत स्तर पर वैक्सीनेशन केंद्र स्थापित करने के लिए भी आवश्यक कदम टास्क फोर्स के माध्यम से उठाए जाएंगे। टास्क फोर्स के सदस्यों की ट्रेनिंग संबंधित विभागों के माध्यम से सुनिश्चित की जाएगी। पंचायत स्तर की टास्क फोर्स की मॉनिटरिंग विकास खंड अधिकारी द्वारा की जाएगी।

     मॉनिटरिंग के लिए भी मापदंड निर्धारित कर दिए गए हैं जिसमें प्रतिदिन जुकाम, बुखार, सांस संबंधी बीमारी के लक्षणों वाले लोगों के बारे में घर-घर जाकर स्क्रीनिंग करना तथा इस तरह के लक्षण वाले लोगों की 100 प्रतिशत टेस्टिंग सुनिश्चित करना, होम आईसोलेशन में रह रहे कोविड रोगियों की प्रतिदिन मॉनिटरिंग करना इसके साथ ही पंचायत स्तर पर सामाजिक दूरी की अवेहलना करने वालों की निगरानी करना, कोविड संक्रमितों के अंतिम संस्कार में पूरे प्रोटाकॉल के साथ निभाने इत्यादि के बारे में सूचना देना जरूरी होगा। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि बेहतरीन कार्य करने वाली टास्क फोर्स को जिला स्तर पर सम्मानित किया जाएगा।