शिलान्यासों पर शिलान्यास करके नहीं बनेगी बात : राजेंद्र राणा

Breaking News

शिलान्यासों पर शिलान्यास करके नहीं बनेगी बात : राजेंद्र राणा

 

सुजानपुर की जनता को बताएं कि 4 साल तक किस खुन्नस पर रोका है विकास : राणा

सुजानपुर 29 दिसंबर

अपने सेवा साधना के संकल्प को निरंतर जारी रखते हुए विधायक राजेंद्र राणा ने नगर परिषद के सुजानपुर वार्ड नंबर 8 में आयोजित महिला मंडल सम्मानित समारोह में चार महिला मंडलों को 12-12 हजार रुपए व एक-एक टेंट देकर सम्मानित व प्रोत्साहित किया। सुजानपुर शहर में आयोजित महिला मंडल सम्मान समारोह में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे राजेंद्र राणा ने कहा कि महिला शक्ति ने सुजानपुर में समाज सेवा में एक मिसाल कायम की है। जिसका अनुसरण प्रदेश भर के महिला मंडल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज को सजाने व संवारने के साथ समाज सेवा की जो अग्रणी मिसाल सुजानपुर के महिला मंडलों ने पेश की है, उससे वह अभिभूत हैं और नारी शक्ति के इस जज्बे के आगे नतमस्तक हैं। राणा ने कहा कि समाज सेवा के कार्यक्रमों व आयोजनों में वह राजनीति की कोई बात करना नहीं चाहते हैं लेकिन सत्ता के बावजूद विकास को रोककर बैठी बीजेपी अगर लोगों से अन्याय व अत्याचार कर रही है, तो यह कतई सहन नहीं है। राणा ने कहा कि बीजेपी के चार सालों में विकास के नाम पर सुजानपुर में चार ईंटें नहीं लगा पाई हैं। क्षेत्र का विकास चार ईंट नहीं सरक पाया है। आखिर इसके लिए जिम्मेदार कौन है। जवाब देही किसकी है, यह बीजेपी को बताना होगा। राणा ने कहा कि हार की खुन्नस से कूपित बीजेपी के नेता सुजानपुर के विकास को चार सालों तक लगातार रोकने के लिए एड़ी, चोटी का जोर लगाए हुए हैं। लेकिन लोकतंत्र में हार-जीत एक पहलु है। इसकी सजा जनता को देना दुर्भाग्यपूर्ण है। राणा ने कहा कि सुजानपुर में बीजेपी कोई भी विकास करवाने में पूरी तरह नाकाम रही है। लेकिन जो विकास कार्य सुजानपुर में कांग्रेस कार्यकाल में शुरू हुए थे या हो चुके थे, उनके उद्घाटनों व शिलान्यासों की होड़ में जनता को गुमराह करने का काम बीजेपी कर रही है। ऐसे ही कुछ कामों के शिलान्यासों को फिर से करने के लिए अब बीजेपी ने एक मुहीम छेड़ी है। लेकिन बीजेपी याद रखे कि सुजानपुर में जो शिलान्यास एक बार हो चुके हैं, उनको सुजानपुर की जनता फिर से हरगिज करने नहीं देगी। क्योंकि ऐसे शिलान्यासों को करने का बीजेपी को कोई हक नहीं है। क्योंकि लोकतंत्र मर्यादा के मुताबिक भी सुजानपुर की जनता बीजेपी को नाकार चुकी है। और जिस तरह से बीजेपी ने सुजानपुर का विकास लगातार रोककर जनता को प्रताडि़त किया है उस नाते भी बीजेपी शिलान्यासों व उद्घाटनों के मौलिक हक को खो चुकी है। राणा ने कहा कि शिलान्यासों पर शिलान्यास करके बीजेपी की छवि सुधरने वाली नहीं है। अगर बीजेपी को अपनी छवि सुधारनी है तो वह सुजानपुर के विकास में हाथ बटाएं, रोका किसने है। सुजानपुर के लिए कोई बड़ी योजनाएं लाएं, पिछड़ों, दलितों व वंचितों को मुख्यधारा में लाने के लिए प्रयास करें, फिर उद्घाटन और शिलान्यास की बात करें। पहले से किए गए शिलान्यासों पर शिलान्यास करना किसी भी राजनीति की श्रेणी में नहीं आता है। इसको सियासत की साजिश व कुंठा की संज्ञा दी जा सकती है।