दलित, शोषित गरीब छात्रों की स्कॉलरशिप का घोटाला करने वाली कैप्टन सरकार से सी.बी.आई जांच कर सच निकालेगी -: चुग

Breaking News

दलित, शोषित गरीब छात्रों की स्कॉलरशिप का घोटाला करने वाली कैप्टन सरकार से सी.बी.आई जांच कर सच निकालेगी -: चुग

एस.सी छात्रों की स्कॉलरशिप घोटाले पर कैप्टन सरकार की झूठी क्लीन चिट का सी.बी.आई पर्दाफाश करेगी -: चुग


चंडीगढ़: 
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुग ने सीबीआई द्वारा पंजाब में पोस्ट मैट्रिक एससी छात्रवृत्ति की जांच का स्वागत करते हुए कहा कि पंजाब सरकार की नाक के नीचे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के कैबिनेट मंत्री सव्यंभू "साधु" सिंह धर्मसोत ने दलित छात्रों की स्कॉलरशिप में बड़ा घोटाला किया, जिसमें हजारों अनुसूचित जाति के छात्र केंद्र की मोदी सरकार द्वारा प्रदान की गई छात्रवृत्ति राशि से वंचित रह गए।

चुग ने कहा कि इस कांड में 300 करोड़ रुपये से अधिक की राशि शामिल है, जिसे श्री नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार ने भेजी थी पर अमरिंदर सिंह सरकार ने एससी छात्रों को छात्रवृत्ति नहीं दी।

चुघ ने कहा कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने घोटाले की निष्पक्ष जांच करने के बजाय अपने कैबिनेट सहयोगी को बचाने की कोशिश की, जिसने घोटाले को अंजाम दिया था। अपनी सरकार के मंत्रियों के घोटाले को छुपाने हेतु जूठी क्लीन चिट जारी कर दी थी।

चुग में कहा की पंजाब की 33% आबादी के बच्चों को स्कॉलरशिप ना मिलने के कारण हजारों अनुसूचित व पिछड़ी श्रेणी के छात्र शैक्षिक संस्थाओं से असहाय होकर अपने शिक्षा छोड़ने पर मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि एस.सी छात्रों की पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले पर कैप्टन सरकार पर्दा डालकर कांग्रेस की अंदरूनी गुटबाजी में अपने नंबर बढ़ाने की घिनौनी करतूत कर रही है।

चुग ने कहा की मोदी सरकार की स्कॉलरशिप योजना ने छात्रों की नॉन रिफंडेबल फीस, यूनिवर्सिटी फीस और 230 रुपये से लेकर 550 रुपये प्रतिमाह भत्ता देने का प्रावधान है जो पंजाब के दलित छात्र छात्रों को नहीं मिल रहा।

चुग ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की कांग्रेस सरकार की बेरुखी व गैर जिम्मेवार व्यवहार से एस.सी विद्यार्थियों का भविष्य अंधकार मय हुआ है जिससे गरीब विद्यार्थियों के जीवन से खिलवाड़ हो रहा है कैप्टन सरकार के द्वारा विद्यार्थियों के जीवन पर कठोर घात हुआ है, इनजिनरिग समेत सभी कोर्सो की पढाई के लिए स्कॉलरशिप न मिलने पर कॉलेज मैनेजमेंट वालों ने एस.सी छात्र छात्रा की अगली पढाई पर रोक लगा दी है जिससे पंजाब की 33 प्रतिशत आबादी के होनहार छात्र छात्रों का भविष्य अँधेरे में लटक गया है।

चुघ ने पंजाब की मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को चेतावनी देते हुए कहा की कांग्रेस पार्टी की सरकार राज्य के एस.सी , एस.टी छात्रों के उज्जवल भविष्य के मार्ग में बाधा डालनी बंद करें एवं दलित ,शोषित , पिछडे वर्ग के छात्र छात्रों के सर्वांगीण विकास को सुनिश्चित करें। जिससे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी सरकार की दलित हितैषी नीतियों का लाभ पंजाब के दलित, शोषित, वंचित परिवारों के छात्रों  को मिल सके।