हिमाचल में आक्सीजन बैंक भी किया जाएगा स्थापित: अनुराग ठाकुर

हिमाचल में आक्सीजन बैंक भी किया जाएगा स्थापित: अनुराग ठाकुर

पहले चरण में विभिन्न जिलों के 700 बेड्स को आक्सीजन की व्यवस्थाक

कहा , केंद्र तथा राज्य कोविड से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार

विडियोकांफ्रेसिंग से कांगड़ा,उना, मंडी, बिलासपुर, हमीरपुर की कोविड समीक्षा

 

धर्मशाला, 29 मई। केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोविड से निपटने के लिए शीघ्र आक्सीजन बैंक स्थापित किया जाएगा जिससे करीब सात सौ बेड्स के लिए आक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था की जाएगी। शनिवार को दिल्ली से विडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से कांगड़ा, मंडी, उना, हमीरपुर तथा बिलासपुर के उपायुक्तों के साथ कोविड की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए केंद्रीय राज्य वित मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सभी जिलों को आक्सीजन बैंक के माध्यम से आक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक प्लान तैयार करें ताकि कोविड से बेहतर तरीके के साथ निपट सकें। अनुराग ठाकुर ने कहा कि हाल ही में उना, हमीरपुर, बिलासपुर के लिए तीन आक्सीजन प्लांट स्वीकृत करवए गए हैं इससे आक्सीजन की उपलब्धतता पर्याप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र तथा राज्य सरकार ने कोविड से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है, जिलों में आक्सीजन, पीपीई किट्स तथा आवश्यक दवाइयों नियमित तौर पर उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के प्रत्येक जिले के लिए उनकी तरफ से 300 आक्सीजन कंस्ट्रेटर, 200 आक्सीजन सिलेंडर, 1500 आक्सीजन रेगुलेटर मुहैया करवाए गए हैं इसके साथ ही सात हजार पीपीई किट्स, 6000 आक्सीजन मास्क, एन-95 50 हजार मास्क भी उपलब्ध करवाए गए हैं।

 

उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमित रोगियों के अस्पताल में उपचार तथा उचित देखभाल का पूरा ध्यान रखा जाए तथा घरों में ही आसोलेशन में रह रहे कोविड संक्रमित रोगियों के लिए दवाई तथा दूरभाष के माध्यम से नियमित संपर्क किया जाए ताकि कोविड संक्रमित रोगियों का मनोबल बना रहे। अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोविड संक्रमण से आम जनमानस के बचाव के लिए जागरूक भी किया जाए तथा लोगों को सामाजिक दूरी, मास्क का उपयोग करने, हाथ बार बार धोने के लिए प्रेरित किया जाए इसके साथ ही टेस्टिंग क्षमता में भी बढ़ावा किया जाए ताकि कोविड के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

 

केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक किया जाए तथा दूसरे चरण में 18 से 45 वर्ष के आयुवर्ग के लोगों को भी व्यवस्थित तरीके से कवर किया जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग लाभांवित हो सकें। केंद्रीय राज्य वित मंत्री ने कोविड अस्पतालों तथा कोविड संक्रमित रोगियों के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल की तथा सरकार और जिला प्रशासन द्वारा किए गए अन्य प्रबंधों के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई। सभी उपायुक्तों ने अपने अपने जिला से कोविड से निपटने के लिए किए गए प्रबंधों की विस्तार से जानकारी दी।