सेंगोल, राजदंड, सनातन धर्म का प्रतीक और राज प्रणाली चलाने का आदेश

सेंगोल, राजदंड, 1947 में अंग्रेजों ने नेहरू को सम्मान पूर्वक देश की आजादी के समय दिया था

 

सेंगोल को एक पवित्र हिंदू समारोह में देश के पहले प्रधानमंत्री नेहरू को सौंप दिया गया था। सेंगोल पर स्वयं तमिल में यह कविता है:

 

“यह हमारा आदेश है कि भगवान (शिव) के अनुयायी, राजा, स्वर्ग में शासन करेंगे। इस प्रकार, 15 अगस्त 1947 को सत्ता एक हिंदू ‘राजा’ को स्थानांतरित कर दी गई, जिसे एक जैसा शासन करने का आदेश दिया गया था”।

 

तमिल में कविता अब सनातन सभ्यता में वापस आ रही है।

 

यह सनातन सभ्यता की पुनर्स्थापना है और इसका सम्मान होना चाहिए, बहिष्कार समर्थक पार्टियां उद्घाटन समारोह का बहिष्कार क्यों कर रही है यह बात समज से परे है

Related post

कांग्रेस षड्यंत्रकारी पार्टी और सरकार : बिंदल

कांग्रेस षड्यंत्रकारी पार्टी और सरकार : बिंदल

कांग्रेस षड्यंत्रकारी पार्टी और सरकार : बिंदल सिरमौर, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने प्रैस वार्ता को संबोधित करते हुए…
मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, अबकी बार- 400 पार: अनुराग ठाकुर

मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, अबकी बार-…

मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, अबकी बार- 400 पार: अनुराग ठाकुर किसानों के लिए जो आज तक कोई सरकार…
केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह द्वारा मध्य प्रदेश के खजुराहो में ‘बूथ समिति सम्मेलन’ में दिए गए भाषण के मुख्य बिंदु

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह द्वारा…

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह द्वारा मध्य प्रदेश के खजुराहो में ‘बूथ समिति सम्मेलन’ में दिए गए भाषण…

Leave a Reply

Your email address will not be published.